lyrics

मैं वोह चाँद फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने

tera suroor mai wo chand

‘मैं वोह चाँद’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने : मैं वोह चाँद दर्शन रावल  द्वारा गाए इस गाने को कंपोज़ किया है हिमेश रेशम्मिया ने जबकि सगीत लिखा है समीर अनजान ने |

गायक :  दर्शन रावल
संगीत:   हिमेश रेशम्मिया
बोल:     समीर अनजान
रिलीज़ कम्पनी : टी सीरीज

 

 

मैं वोह चाँद
अश्कों में है यादें तेरी
भीगिम्भीगी रातें मेरी
गुम है कहीं राहें मेरी

मैं तेरे इश्क में गुमराह हुआ
मैं तेरे इश्क में गुमराह हुआ
मैं वोह चाँद जिसका तेरे बिन न कोई आसमान
मैं वोह चाँद जिसका तेरे बिन न कोई आसमान

मेरी दुआओं में है मन्नत तेरी
तुझको पढ़ा है तू है आयत मेरी
जानत तू है होना न दूर
अजमत है तुझसे तू ही है मेरा नूर

दिल की सलाखें क़ैद रखे है
जैसे परिंदा कई, हाँ कई….

अस्कों में है यादें तेरी
भीगी भीगी रातें मेरी
गम है कहीं राहें मेरी
मैं तेरे इश्क में गुमराह हुआ
मैं तेरे इश्क में गुमराह हुआ
मैं वो चाँद जिसका तेरे बिन न कोई आसमान

वीरानियों का दिल में लावा  जले
अंगारों के साए में हर पल खाले
फुरकत का लम्हा फिर से आये न अब
इस से रिहाई दे दे ए मेरे रब्ब

दिल के तार बंधे हैं ऐसे
जैसे बंधी बेड़ियाँ , बेड़ियाँ ….

अश्कों में है यादें तेरी
भीगी भीगी रातें मेरी
गुम है कहीं राहें मेरी
मैं तेरे इश्क में गुमराह हुआ
मैं तेरे इश्क में गुमराह हुआ
मे वो चाँद जिसका तेरे बिन न कोई आसमान

Summary
Review Date
Reviewed Item
मैं वोह चाँद फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने
Author Rating
51star1star1star1star1star

About the author

Nishant Kumar

Leave a Comment