Free Hit

टाइटैनिक से जुड़े रोचक तथ्य

facts related to titanic in hindi

टाइटैनिक का नाम लेते ही दिमाग में एक ऐसे जहाज के बारें में तस्वीर बनती है जो सिर्फ इसलिये याद नहीं किया जाता है कि वो अपने दौर का सबसे बड़ा जहाज था और बर्फ की चट्टान से टकरा जाने के कारण डूब गया…बल्कि इसके अलावा और भी बहुत सी वजह हैं जो उसे यादगार बना गई ….आईये जानते हैं..

1. शराब बोतल तोड़ने की परंपरा टाइटैनिक जहाज जब भी अपने सफर पर निकलता था तो शराब की बोतल को एक खास जगह पर तोड़ने की एक खास तरह की रस्म निभाई जाती थी लेकिन उस दिन ऐसा कुछ नहीं किया गया। और ज्यादातर लोग मानते हैं कि इसको ना निभाने के कारण ही ऐसा हुआ।

2. 30 सेकेंड की चूक और सब खत्म- अगर जहाज के कप्तान की नजर ना चूकी होती और वो 30 सेकेंड पहले बर्फ की चट्टान देख लेता तो ऐसा नहीं होता। महज 30 सेकेंड की चूक ने जहाज में मौजूद खुश लोगों को बेपनाह गमगीन बना दिया और टाइटैनिक मौत की गोद में तब्दील कर दिया।

3. सबसे भाव विभोर करने वाला पल जब लोगों को यकीन हो गया कि वो अब नहीं बचेंगें तो जहाज में मौजूद बैंड ग्रुप ने कई घंटो तक लोगों का मनोरंजन किया ताकि वो मौत के डर से चंद मिनटों के लिये ही सही लेकिन मौत के डर को भूल जायें।

4. कैसे बचे मिल्टन हरशे – जी हाँ…इन्हें दुनिया की शानदार चाकलेट बनाने के लिये याद किया जाता है और इन्होनें भी टाइटैनिक की टिकट खरीद थी लेकिन एंड टाइम पर किसी काम की वजह से उन्होनें टाइटेनिक की सवारी के रद्द करना पड़ा और इस तरह उन्हें जीवन मिला। जब जहाज डूबा तो करीब 706 मुसाफिर और केवल दो कुत्तों को ही बचाया जा सका। टाइटैनिक में सवार करीब 1500 लोग मौत के गाल में समा गये।

5. ऐसा पहली बार हुआ- अगर इतिहास के पन्नों को पलटा जायें तो आप पायेंगें की ऐसा कभी नहीं हुआ कि एक सिर्फ एक हिमशैल से पूरा जहाज डूब जायें…टाइटेनिक जिस तरह खुद अनोखा थी उसी तरह इसकी आखिरी यात्रा भी इतिहास के पन्नों में समा गई।

6. मौक ड्रिल का रद्द होना – टाइटैनिक जहाज में सवार होने वाले यात्रियों के लिये माक ड्रिल का अभ्यास कराया जाना था ताकि लोग ये जान सकें कि आपातस्थिति में कैसे बचाव करें लेकिन वो मौक ड्रिल किन्ही वजहों से स्थगित कर दी गई। और इस वजह से भी ज्यादातर लोग अपनी जान नहीं बचा पायें। यहीं नहीं जब जहाज टकराया तो बहुत लोगों को ये लगा ही नहीं की इतना बड़ा जहाज डूब सकता है और इसीलिय उन्होनें लाइफ बोट में जाने से इनकार कर दिया। लाइफ बोट में करीब 472 से ज्यादा लोग बैठ सकते थे लेकिन उनमें से केवल 28 लोगों ने ही समझदारी दिखा कर अपनी जान बचाई।

7. जहाज डूबने में लगा इतना समय – महज 30 सेकेंड की चूक ने टाइटैनिक को समुद्र की अथाह गहराईयों में समा डाला और इसे डूबनें में लगभग 2 घंटे 40 मिनट का समय लगा। उस दिन वो उसके सफर का चौथा दिन था और जमीन से करीब 640 किलोमीटर की दूरी पर था।

अगर आप भी टाइटैनिक से जुड़े मजेदार तथ्य के बारे में जानते हैं जो हम यहां भूल गये हैं तो हमें कमेंट करना ना भूले

Image : History.com

About the author

Nandini Singh

नंदिनी सिंह ट्रेंडिंगऑवर में एडिटोरियल प्रड्यूसर हैं|

Leave a Comment