Entertainment

6 कारण जो बनाते हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा को “द मोस्ट पापुलर शो”

tarak mehta ka ulta chasma

Why Tarak Mehta Ka Ulta So Popular : यूँ तो हम सभी को टीवी देखना बहुत पसंद है लेकिन जब बात आये सबसे ज्यादा पापुलर टीवी सीरियल का तो नाम आता है तारक मेहता का उल्टा चश्मा… भले ही इस कार्यक्रम को कई साल हो गये लेकिन अभी भी ये टीआरपी में अव्वल रहा है। क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर क्या कारण रहे जिसनें तारक मेहता का उल्टा चश्मा को इतने लंबे समय तक टिकने का मौका दिया…

1. आपसी प्यार का संदेश –जहाँ हर दूसरा और तीसरा टीवी सिरियल सास बहु की नौटंकी दिखाने में अटका हुआ है वहीं तारक मेहता का उल्टा चश्मा पड़ोसियों के बीच के आपसी प्यार और सौहाद्र का संदेश दे रहा है। इतना ही नहीं बल्कि इस सीरियल में माता-पिता को सम्मान देने का भी संदेश दिया गया है और इसमें जेठा और बापूजी की जोड़ी तो सबको ही याद है। इसके अलावा अगर दोस्ती की बात करें तो इसमे तारक और जेठा की जोड़ी भी कमाल है।

2. जिदंगी से जुड़ाव –तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जिन विषयों को उठाया जाता है वो आपकी असल जिंदगीं से जुड़े होते हैं यानि हम सभी कभी-ना-कभी उस सिचुएशन से कई बार दो चार हो चुके होते हैं। और इसीलिए ये सीरियल लोगों के बीच काफी पापुलर है। जब भी आप इस सीरियल को देखते हैं आप अच्छा महसूस करते हैं।

3. किरदारों को मजेदार होना– जी हाँ…तारक मेहता के किरदार एक से बढ़कर एक है अब चाहे बात करें बबीता जी, दया, अय्यर, टप्पू या फिर दादा जी। सभी किरदारों का एक अपना अलग स्टाइल और मनमोहक अंदाज है जो लोगों को बहुत एंटरटेन करती है। और दर्शकों का अपना किरदार के साथ एक अलग और खास संबंध बन गया है। इसके अलावा इन किरदारों को बात करने का अंदाज और उनके कपड़े पहनने का अंदाज बेमिसाल है।

4. अलग-अलग धर्मों का होना– तारक मेहता का उल्टा चश्मा के किरदारों की खास बात ये है कि ये सभी किरदार एक ही तरह के नहीं है यानि कि सभी अलग-अलग धर्मों से जुड़े हैं जो कि इसका सीरियल को और भी खास बना देते हैं। कोई गुजराती है, हिन्दु है, मुस्लिम है, मद्रासी है तो कोई पंजाबी…यानि किसी को अगर पूरे भारत को एक साथ देखना हों तो इस कार्यक्रम को देख लेना चाहिए।

5. हँसी का ठहाका– क्या जरुरत है टेंशन भरी लाइफ में और टेंशन लेने की…जी हाँ तारक का मेहता का उल्टा चश्मा देखने का मतलब है कि खुद को मजेदार बातों और रोजमर्रा की बातों पर हँसने का मौका देना। इसमें आपको हंसाने के लिए फूहड़ता का सहारा नहीं लिया जाता है…और इसीलिए अच्छी बात ये है कि इस सीरियल को आप पूरे घर के साथ बैठ कर देख सकते हैं।

6. नो ड्रामा– अगर आप सीरियल्स में होने वाले बेवजह के ड्रामे जैसे पुनजर्न्म, एक जैसी शक्ल… से परेशान हो चुके हैं और कुछ हल्का-फुल्का के साथ–साथ कुछ अच्छा देखना चाहते हैं तो तारक मेहता से बढियां कुछ नहीं हो सकता है।

और आप क्यों देखते हैं तारक मेहता हमें बताना ना भूलें….आखिर अभी भी ये सीरियल टीआरपी में अपनी जगह बनाये हुये है।

 

About the author

Nandini Singh

नंदिनी सिंह ट्रेंडिंगऑवर में एडिटोरियल प्रड्यूसर हैं|

Leave a Comment