श्वांस रोग से पीड़ित हैं तो करें कपालभाति योग

Kapalbhati Yoga: अक्सर हम जीवन में योग, साधना एवं व्यायाम के महत्व को समझने के बावजूद भी अतिव्यस्त जीवन शैली के कारण उसे अपनाकर लाभान्वित नहीं हो पाते | अमूमन एक स्वस्थ आहार के साथ-साथ विशेषज्ञ जीवन में शारीरिक मजबूती को भी काफी महत्वपूर्ण मानते हैं |

खासकर के योग के तो कहने ही क्या… ये सही है की जीवन मे आप भी योग एवं साधना को अपना कर अपने शरीर को अन्दर से तंदरुस्त बना सकते हैं… अपनी योग सीरीज की इस कड़ी में हम आपको Kapalbhati Yoga के फायदों के बारे में बतायेंगे | श्वास सम्बंधित समस्याओं से जूझ रहे व्यक्ति के लिए ये योग एक रामबाण के रूप में काम करता है

Kapalbhati Yoga कैसे करें

(1) सबसे पहले स्वच्छ एवं शांत वातावरण में कपड़ा बिछा पालथी मारकर बैठ जाएँ |

(2) अब अपने बाये पॉव को दाहिने जांघ पर एवं दाये पॉव को अपने बाये जांघ पर रख टांगो के बीच क्रॉस बनायें |

(3) अब शरीर को सीधा कर हाथों को फैलाएं धीरे-धीरे साँस लें एवं पेट को अन्दर बाहर करें |

(4) नित-दिन प्रयास कर योगासन की अवधि को बढ़ाने की कोशिश करें |

  इसे भी पढ़े: देखिये लड़की को किया परेशान सबक तो मिलना ही था

Kapalbhati Yoga के फायदे

(1) कपालभाति योग खासकर के उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिन्हें साँस सम्बंधित रोगों से विशेष परेशानी होती है |

(2) हर्ट के Pumping Disability में सुधार ला रक्त संचार को सुचारू रूप से संचालित करता है |

(3) मेटाबोलिज्म की दर को बढ़ा ये आपको अनावश्यक रूप से जमे फैट से भी छुटकारा दिलाता है | पाचन तंत्र में आई गड़बड़ी ठीक होती है |

(4) कब्ज, एसिडिटी, डायबिटीज, अस्थमा, हेयर लोस, श्वसन प्रणाली में आई गड़बड़ी एवं ह्रदय जनित रोगों में भी ये काफी फायदा पहुँचाता है |

योग से जुड़े ऐसे ही अन्य योगासन के लिए हमारे योग सीरीज वाले पेज पर बने रहे.

Summary
Review Date
Reviewed Item
कपालभाति योग
Author Rating
51star1star1star1star1star

Tredinghour

THNN (Trendinghour News Network).

Leave a Reply