मुझे भी खेलने दो कहकर आखिर यह “कौन” आ गया पिच पर

बचपन का वो दिन तो आप सब को याद ही होगा न, जब स्कूल से आते ही हम बल्ले लेकर सीधा मैदान की ओर भागते थे| आज भी उन हसीन लम्हों को याद कर हमारा दिल रोमांच से भर जाता है| क्या दिन थे वे बचपन के जब किसी तरह की कोई टेंशन नहीं थी और न ही ज़िन्दगी से कोई शिकायत| आपस में जितने भी बच्चे मैदान में जुटे उन्हें ही दो टीम में बाँट कर टॉस करली और करने लगे जीत-हार का फैसला| उस समय यदि यमराज भी आ जाता तो उन्ही एक ही बात कहके टाल देते कि “रुक जा भाई मैच ख़तम होने के बाद चलता हूँ”|ऐसी थी क्रिकेट के प्रति हमारी दीवनगी|

खेल में जरा भी व्यवधान परने पर तो मानो गुस्सा सातवे आसमान में पहुँच जाता| मगर जरा कल्पना कीजिये जब आप बल्लेबाजी कर रहे हो और बल्ले से गेंद अच्छी तरह कनेक्ट हो रही हो, उसी समय कोई आदमी आकर आपसे एक बॉल खेलने की रिक्वेस्ट करने लगे तब आप पर क्या बीतती होगी| हद तो तब हो जाती थी जब एक बॉल के नाम पर वो पूरा एक ओवर खेल जाता और फिर जाते-जाते हमें कैसे खेले और कैसे न खेले के ऊपर लेक्चर भी फ्री में दे जाता| मन तो करता था कि उसी बैट से उसके सर पे दे मारू|

इसे भी पढ़े: एक ही दिन में दो अर्द्धशतक लगा इस बल्लेबाज ने रचा अनूठा इतिहास

ऐसा ही कुछ देखने को मिला दिल्ली के एक क्रिकेट कोचिंग क्लब में जहाँ कुछ बच्चे  नेट में अभ्यास कर रहे थे कि तभी एक अधेड़ उम्र का इंसान आकर न सिर्फ बच्चे से बैट छीन लेता है बल्कि क्रिकेट के ऊपर भाषण भी पेलना स्टार्ट कर देता हैं| खैर आगे क्या हुआ ये आप खुद ही देख लीजिये|

Unexpected Visitor on Pitch

अरे ये इन्सान तो कोई और नहीं बल्कि गुजरे ज़माने के मशहुर बल्लेबाज युसूफ पठान हैं| कल्पना कीजिये क्या बीती होगी उन क्रिकेटर के दिल पर जब उन्होंने अपने फेवरेट क्रिकेटर को इतने पास से देखा होगा| यह कारनामा हुआ निसान ऑटो मोटर के एक ऐड के दौड़ान| इस विडियो को देख कर कही मेरे तरह आप भी ये तो नहीं सोचने लगे न कि अगली बार धोनी साहब इसी तरह से भेष बदल कर आपके सामने आये और आपको क्रिकेटिंग के गुर सिखाने लगे|

देश और दुनिया के ऐसे ही चटपटी वीडियोस देखने के लिए हमारे विडियो पेज से जुड़ना न भूले|

सौजन्य: निसान मोटर