इस पाकिस्तानी हिन्दू का दर्द सुन आपके आँखे रो पड़ेगी

 पथ का हो बंटवारा, मंजिल को तुम मत बांटो.

किरणों का हो बंटवारा, सूरज को तुम मत बांटो. 

हर धर्म अपनी-अपनी मान्यताओ, आस्थाओं एवं विश्वास के अभिभूत एक दुसरे से अलग है| जैसे-कोई धर्म मूर्ति-पूजा का समर्थन करती है तो कोई इसका विरोध, कोई पुनर्जन्म के सिधान्तो में विस्वास रखती है तो वही दूसरे धरम में इसे गलत समझा जाता है, परन्तु संसार के सभी धर्म नैतिकता के आधार पर हमें एक ही मूल भाव ” मानवता” के ओर अग्रसर होने को कहती हैं| क्या सिर्फ इसलिए कि सामने वाला किसी दुसरे धर्म से सम्बंधित है तो हमें हक मिल जाता है उन्हें परेशान करने का..?

कुछ दिनों पहले हमारे पडोसी मुल्क पाकिस्तान से एक खबर आयी थी जिसमे एक हिन्दू बच्ची को किडनैप कर लिया जाता है और जबरन उसे धरम रूपांतरण करा मुस्लमान बना दिया जाता है| जरा सोचिये सिर्फ इसलिए क्योंकि हम संख्या में ज्यादा है इसके वजह से हमें दुसरे जाती-धरम के लोगो पर अत्याचार करने की छुट मिल जाती है|

बांग्लादेश एवं पाकिस्तान से आये दिन कुछ न कुछ ऐसी खबरे जरुर सुनने को मिल जाती है जिसमे वहाँ के मुस्लिम बहुल आबादी हिन्दुओ पर ज्यादती करते नजर आते हैं| दिन दहारे उनके मंदिर तोड़ दिए जाते हैं, उनके बहु-बेटियों के साथ रेप किया जाता हैं और वहाँ की निक्कमी सरकार एवं मीडिया मामले की जांच के बजाय मामले को दबाने की कोशिश करती हैं| इससे पहले की हम कुछ कहे जरा इस विडियो पर नजर डालिए|

 

खैर इन अल्पसंख्यक हिन्दुओ के दुर्दशा को शब्दों में तो बयां नहीं किया जा सकता परन्तु इस विडियो के द्वारा आपको उनपर हो रहे अत्याचार की खबर तो जरुर मिल गयी होगी| हमारा परिवार भारत सरकार से पडोसी मुल्कों में हो रहे इस तरह के घटनाओ पर रोक लगाने के लिए विनती करता हैं साथ ही ह्यूमन राईट वालो से भी यह गुजारिश है कि वे इन बातो के तह तक जाकर कोई समाधान जरुर निकाले ताकि हमारे धरती में एक बार फिर से जाती-धरम से ऊपर मानवता की जीत हो सके|

दुनिया के हर कोने से रोजाना आपके लिए हम लेकर आ रहे हैं एक से बढ़कर एक विडियो जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगी| ऐसे ही वीडियोस से जुड़े रहने के लिए हमारे विडियो पेज पर बने रहे|

Leave a Reply