आस्था एवं इतिहास का महासंगम : अमृतसर

Famous Tourist Places in Amritsar: आप अमृतसर गए हैं कभी…? नहीं..!! चलिए कोई नहीं मेरी माने तो इन छुट्टियों में एक बार अमृतसर जरुर हो आइये| अमूमन अमृतसर का मतलब लोग गोल्डन टेम्पल से ही लगा लेते हैं मगर सच में मेरा यकीन कीजिये अमृतसर में घुमने लायक और भी कई बेहद खुबसूरत जगह हैं| जहाँ एक और गोल्डन टेम्पल में बिताया गया शाम आपको एक मानसिक सुकून देगी तो वही कुछ ही दूर स्थित बाघा बॉर्डर का परेड आपके सांसो में देशभक्ति की रंग भरने में कोई भी कसर नहीं छोरेगी|

सड़क, रेल एवं हवाई यातायात से पुरे दुनिया से जुड़ीं अमृतसर में यूँ तो घुमने लायक कई बेहद खुबसूरत जगह हैं मगर यदि आप भी हमारे तरह समय के मार के वजह से एक शोर्ट ट्रिप बनाने का सोच रहे हैं तो निश्चित तौर पर अमृतसर एक बेहतर विकल्प हो सकती हैं| दिल्ली से एक रात के सफ़र के बाद सुबह 6 बजे हमारी ट्रेन अमृतसर स्टेशन पहुँचती हैं जहाँ से हम सीधा स्वर्ण मंदिर के लिए निकल परते हैं| स्वर्ण मंदिर के ही पास आपको रहने के लिए बजट होटल से लेकर ढेर सारे धर्मशालाएं भी आसानी से मिल जायेंगे| होटल में जाकर फ्रेश होने के बाद हम निकल परते हैं अमृतसर के सैर पर| आइये नजर डालते है एक दिन में की जाने वाले अमृतसर के यात्रा के कुछ बेहद ही खास पहलु पर|

Famous Tourist Places in Amritsar

(1) Jallianwala Bagh:  13 april 1919 को बैशाखी की खुशियाँ मनाने एवं रौलेट एक्ट के विरोध में जमा हुए भीड़ के ऊपर लगभग 1700 round  की अंधाधुंध फायरिंग में मारे गए हजारों शहीदों के मातम का गंवाह बनी जलियांवाला बाग़ स्वर्ण मंदिर के ठीक सामने हैं| यहाँ आज भी आपको दीवरों पर गोलियों के निशानों के साथ ही वो कुआं भी देखने को मिल जायेगा जहाँ कभी ब्रिटिश क्रूरता से अपनी अस्मत बचाने हेतु हमारी औरतों ने कुयें में कूद कर अपनी जान दे दी थी|

jallianwala bagh
jallianwala bagh

(2) Durgiana Temple: स्वर्णमंदिर के ही तर्ज पर बनी यह मंदिर अमृतसर में हिन्दुओ के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक हैं| शक्ति की प्रतिक देवी दुर्गा को समर्पित इस तीर्थ को Lakshmi Narayan Temple, Durga Tirath एवं Sitla Mandir के नाम से भी जाना जाता हैं| दुर्गा माँ के अलावा यहाँ लक्ष्मी-नारायण की भी पूजा होती हैं यही वजह हैं कि इस तीर्थ स्थल को देखने का सबसे अच्छा समय दिवाली एवं दशहरे का वक़्त होता हैं| रेलवे स्टेशन से मात्र कुछ दुरी में स्थित इस मंदिर को हरमंदिर साहिब का कॉपी भी कहा जाता हैं|

durgiana temple
durgiana temple
इसे भी पढ़े: नैनीताल – झीलों के शहर की सैर

(3) Ram Tirth: शास्त्रों की माने तो यह वही जगह हैं जहाँ महर्षि बाल्मीकि रहा करते थे| राम एवं सीता मिलन के बाद कुछ दिन तक अयोध्या रहने के पश्चात माता सीता यही आ जाती हैं एवं यही जन्म होता हैं महाप्रतापी लव एवं कुश का| यहाँ आज भी आपको महर्षि बाल्मीकि जी की कुटियाँ एवं सीता घाट( जहा माँ सीता स्नान करती थी) आसानी से देखने को मिल जायेगा| शास्त्रों एवं पुरानो में जिक्र होने के वजह से आधुनिक दौर में यह तीर्थ स्थल हिन्दुओं के प्रमुख तीर्थ-स्थलों में से एक बनकर उभरा है|

ram-tirth
ram-tirth
Famous Tourist Places in Amritsar

(4) Wagah Border:  गोल्डन टेम्पल के बाद ये एक ऐसी जगह हैं जहा गए बिना आपका टूर Incomplete ही समझो| तालियों की गरगराहट एवं देशभक्ति के गीतों में झूमते लोगों के बीच BSF सैनिको द्वारा Flag Hoisting Ceremony देखने के बाद एक बार तो आपके दिल से जरुर निकल जायेगा ” सारे जहाँन से अच्छा हिंदुस्तान हमारा”|

wagah border
wagah border

(5) Harmandir Sahib: अमृतसर जाये और स्वर्ण मंदिर न जाये ऐसा भी क्या हो सकता हैं भला| अमृतसर की पहचान बन चुकी हरमंदिर साहिब ( स्वर्ण मंदिर) में मत्था टेकने एवं गुरु का आशीर्वाद लेने दूर देश से आने वाले लोगों का ताँता पुरे साल लगा ही रहता हैं| यही वजह है कि त्योहारों एवं बैसाखी के दिन में यहाँ आने वाली भीड़ ताजमहल के आंकड़ो को भी पार कर देती हैं| गोल्डन टेम्पल में गुजारा गया एक-एक पल आपके दिल में इंसानियत एवं गुरु के नीतियों को कूट-कूट कर भर देगा| निस्वार्थ भाव से सेवा करते भक्तों एवं गुरु के लंगर में परोसते प्यार को देख एक बार तो आपका दिल जरुर कहेगा कि दुनिया में कही जन्नत हैं तो शायद वो यही हैं.. हरमंदिर साहिब में|

golden temple amritsar
golden temple amritsar

हालाँकि अमृतसर के खूबसूरती एवं इतिहास को समझने के लिए शायद आपको 3-4 दिनों का वक़्त लग जाये परन्तु हमारे टीम ने समय के मार को समझते हुए एक दिन में ही कुछ Famous Tourist Places in Amritsar के बारे में बताने की कोशिश की है| इसके अलावा भी अमृतसर में कई ऐसे जगह हैं जिनका नाम हमने नहीं लिया| यदि आप भी अमृतसर से जुड़े ऐसे ही मजेदार तथ्य हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स पर अवस्य कमेंट करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials