वीसा वाले बालाजी: चिल्कुर बालाजी, हैदराबाद

Chilkur Balaji Temple:  मेरा एक दोस्त है विजय..पिछले साल ही कैंपस प्लेसमेंट में एक अच्छी सॉफ्टवेर कम्पनी में जॉब मिली और पोस्टिंग हुई बंगलौर में| कल शाम को उसका फ़ोन आया| बातो-बात में अपने रोजमर्रा की कुछ बाते करने के बाद हमारी बाते ” Visa Balaji Temple” पर आ रुकी| जी हाँ..आप लोगो के तरह मैं भी इस अनोखे बालाजी का नाम सुन बड़ा चौक सा गया| वीसा वाले बालाजी (Visa God)…!!

हैदराबाद से लगभग 40 KM की दुरी पर Osman Sagar lake के तट पर स्तिथ Chilkur Balaji Temple निश्चित रूप से हमारे बेजोड़ स्ताथ्पत्य कला के कुछ उत्कृष्ट उदाहरणों में से एक है| शहरी शोर-शराबे से दूर जंगलो से घिरे शांत वातावरण में भगवान बालाजी के इस मंदिर में कुछ तो बात जरुर हैं जो हर साल लाखो भक्त देश-विदेश से अपने आराध्य का आशीर्वाद पाने एवं मन की शांति बनाये रखने हेतु यहाँ आते हैं|

क्या है मंदिर का इतिहास ( Chilkur Balaji Temple History)

जानकारों की माने तो 500 साल पुराने इस मंदिर का इतिहास अपने वर्तमान के तरह ही रोमांचित कर देने वाली है| बहुत दिनों पहले हैदराबाद प्रान्त में भगवन वेंकटेश बालाजी के एक अनन्य भक्त रहते थे| अपने आराध्य के प्रति उनकी दीवानगी इस हद तक थी कि वे हर साल अपने घर से कोसो दूर स्थित तिरुमल बालाजी मंदिर में भगवन के दर्शन करने के लिए जाया करते थे| ऐसे में किसी वर्ष उनकी तबियत बहुत ज्यादा ख़राब हो गयी और मंदिर तक की यात्रा कर पाना अब उनके लिए संभव न रहा| ऐसे में अपने अनन्य भक्त की लाचारी देख उनकी भक्ति से प्रस्सन हो भगवन बालाजी रात में उस भक्त के सपने में आते है और कहते है कि “ तुम मुझसे मिलने इतने दूर क्यूँ जाते हो, मैं तो यही तुम्हारे पास के जंगल में रहता हूँ”

भगवन की बात सुन, भक्त जब प्रातः काल भगवन द्वारा बताये हुए जगह पर पहुँचता है तो उसे वहां एक उभरी हुई जमीन दिखाई देती है| खुदाई करने पर कुदाल द्वारा बालाजी के मूर्ति पर चोट होने के बाद जब भक्त की नजर बहती हुई रक्त धारा पर जाती है तो भक्त बहुत ही चिंतित हो जाते है| ऐसे में आकशवाणी होती है कि “मुझे दूध से नहलाके यहाँ स्थापित करो”| भक्त द्वारा दुग्धभिषेकं कराने पर वहा श्रीदेवी और भूदेवी की प्रतिमा भी अवतरित हो जाती है| उसके बाद उन तीनो मूर्तियों को वहाँ स्थापित कर भक्त द्वारा इस प्राचीन मंदिर की स्थापना की जाती है| कालांतर में यह मंदिर अपने प्रभाव से देश-दुनिया के आकर्षण का केंद्र बन जाती हैं|

कैसे पड़ा नाम

प्राचीन काल से ही हिन्दू धर्म एवं धर्मगुरुओं के बीच महत्वपूर्ण जगह रखने वाले इस मंदिर में यूँ तो हर साल लाखों की भीड़ आती-जाती रहती है| कोई यहाँ अच्छी जॉब मांगने के लिए आता है तो कोई विवाह के सन्दर्भ में| कहा जाता है कि जो भी इन्सान सच्चे दिल से यदि इस मंदिर की 11 परिक्रमा ( Pradakshina) कर भगवन से कुछ मांगता है तो उसकी मुराद जरुर पूरी होती हैं| एक बार अपनी मुराद पूरी हो जाने के बाद भक्त दोबारा इस मंदिर में आ 108 परिक्रमा कर भगवन के प्रति अपनी आभार व्यक्त करते हैं| ऐसे में बहुत दिनों पहले एक भक्त ने बेहतर भविष्य हेतु भगवान से अपनी VISA लगा देने की मन्नत मांगी जो पूरी हो गई| फिर क्या था, ये बात जंगले में आग के तरह फैली और देखते ही देखते दिन-प्रतिदिन इस मंदिर में ऐसे भक्तों की भीड़ बढ़ते चली गयी जिनका मकसद वीसा लगवा विदेशो में कही बेहतर भविष्य के लिए जाना होता था| धीरे-धीरे यह मंदिर अपने भक्तों के बीच Visa Balaji Temple के रूप में विख्यात हो गयी|

Facts about Chilkur Balaji Temple

  • मद्दाना एवं अक्काना (भक्त रामदास  के चाचा) के शाशनकाल में बनी इस मंदिर का इतिहास 500 साल पुराना है एवं इसकी गिनती हैदराबाद के सबसे पुराने मंदिरों में की जाती हैं|
  • अमूमन किसी बड़ी मंदिर जाने पर आपको वहाँ दान-पात्र एवं VIP Culture जरुर देखने को मिल जाएगी परन्तु Chilkur Balaji Temple भारत के उन कुछ गिने चुने मंदिरों में से एक है जहाँ आपको न तो कोई दान-पत्र मिलेगी और न ही VIP Culture को मान्यता देती कोई नियम|
  • सूत्रों की माने तो रामानुज कोट मंदिर ( जोधपुर, राजस्थान) के बाद यह भारत की दूसरी ऐसी मंदिर है जिसने सरकार के खिलाफ लड़ खुद को सरकारी नियंत्रण से अलग किया था|
  • इस मंदिर में बालाजी के साथ-साथ श्रीदेवी एवं भूदेवी की भी पूजा होती है| शास्त्रों की माने तो यह काफी दुर्लभ संयोग माना जाता हैं|
  • यह प्राचीन मंदिर शादियों से तिरुपति बालाजी मंदिर के विकल्प के रूप में देख जाता रहा हैं| जो भक्त तिरुपति बालाजी नहीं जा सकते उनके लिए यह मंदिर अपने भगवन वेंकटेश्वर स्वामी के दर्शन एवं आशीर्वाद पाने का एक बेहतर विकल्प माना जाता हैं|
  • मंदिर संस्था की माने तो हर हफ्ते 80 हजार से 1 लाख भक्तो की भीड़ इस मंदिर में आशीर्वाद लेने पहुँचती हैं|Anakota,  Brahmotsavams और Poolang जैसे पर्व के दौडान यह आकंडा 2 लाख के पार पहुँच जाता हैं|

Chilkur Balaji Temple Timings

चिल्कुर बालाजी मंदिर जाने के लिए सबसे अच्छा वक़्त अक्टूबर से जनवरी का समझा जाता है| गर्मियों एवं बरसात के मौसम में जाने से बचे| सप्ताहांत ( Weekend) एवं किसी खास पर्व के दौडान भीड़ का सामना करना पर सकता हैं|

Day Timing
Monday 05:00 am – 8:00 pm
Tuesday 05:00 am – 8:00 pm
Wedesday 05:00 am – 8:00 pm
Thursday 05:00 am – 8:00 pm
Friday 05:00 am – 8:00 pm
Saturday 05:00 am – 8:00 pm
Saturday 05:00 am – 8:00 pm

How to Reach Chilkur Balaji Temple

शादियों से भक्त एवं उनके भक्ति का प्रमुख साक्ष्य रही Chilkur Balaji Temple हैदराबाद टूरिज्म का एक अहम् हिस्सा होने के वजह से सड़क एवं रेल यातायात से देश के कोने-कोने से जुडी हुई हैं|

  • सड़क द्वारा (By Road):  हैदराबाद सिटी से लगभग 40 KM की दुरी में स्थित इस मंदिर तक पहुचने के लिए आपको स्टेट एवं प्राइवेट दोनों बस आराम से मिल जाएगी| आप अगर बंगलोर से यहाँ आना चाहते है तो फिर बंगलोर-हैदराबाद हाईवे से लगभग 2 घंटे की सफ़र करने के बाद यहाँ पंहुचा जा सकता हैं|
  • रेल द्वारा (By Train): हिमायत नगर (Himayat Nagar) रेलवे स्टेशन में उतर लोकल ऑटो रिक्शा द्वारा आसानी से यहाँ पहुँचा जा सकता हैं|
  • प्लेन द्वारा (By Plane): हैदराबाद एअरपोर्ट से लगभग 22 KM की दुरी में स्थित इस मंदिर के लिए आपको एअरपोर्ट से आसानी से बस एवं लोकल ट्रांसपोर्ट मिल जायेंगे|

Chilkur Balaji Temple Address

Chilkur Balaji Temple
Chilkur Balaji Temple Rd
Phone: 084172 35933
Pin Code: 501504, Hyderabad, Telangana ( India)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials