इस टी20 वर्ल्डकप के डेथ ओवेर्स में रहेगी इन गेंदबाजों पर नज़र

क्रिकेट के प्रति हमारी दीवानगी किसी जूनून से कम नहीं| सचिन, सौरव, युवराज, धोनी एवं कोहली जैसे दिग्गजों की पृष्टभूमि रही भारतीय टीम कई मायने में इस बार विश्व-कप की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं| सीमित ओवेरो में एक उम्दा बेटिंग लाइनअप एवं जानदार फील्डिंग के फलस्वरूप आज भारतीय टीम टी20 रैंकिंग में नंबर वन की टीम बनी हुयी हैं| टी20 के इस प्रारूप में कम ओवेरो में लक्ष्य को हासिल करने में बल्लेबाजों की भी काफी अहम् भूमिका होती हैं मगर डेथ ओवेर्स में कसी हुई गेंदबाजी किसी भी टीम को ख़िताब का प्रबल दावेदार बना सकती हैं| वर्ल्डकप के इस महाकुम्भ में हमारे क्रिकेट एक्सपर्ट ने कुछ ऐसे गेंदबाजों की सुंची बनायीं हैं जिनके ऊपर जीत का सारा दारोमदार होगा|

आईये डालते है एक नज़र दुनिया के कुछ सर्वश्रेस्ठ डेथ ओवेर्स के गेंदबाजों पर जिनके ऊपर काफी हद तक मैच को बदलने की जिम्मेदारी होगी:

1.जसप्रीत बुमराह (भारत): इंटरनेशनल क्रिकेट के उभरते सितारों में से एक जसप्रीत बुमराह अपनी कसी हुई गेंदबाज़ी से भारतीय टीम की जीत की अगुवाई कर सकते हैं| मुंबई इंडियन के साथ उनका अनुभव एवं टी20 क्रिकेट में एक सफल स्ट्राइक रेट उन्हें डेथ ओवर स्पेशलिस्ट बनाती हैं| यदि नेहरा एवं बुमराह अपने गेंदबाजी से प्रभाव छोड़ने में सफल हो पाते हैं तो कोई भी लक्ष्य भारतीय बल्लेबाजों के लिए मुश्किल नहीं होगा|

जसप्रीत बुमराह (भारत)
जसप्रीत बुमराह (भारत)

2.कगिसो रबादा (दक्षिण-अफ्रीका): पिछले साल भारत बनाम दक्षिण-अफ्रीका के बीच हुए एक मैच में धोनी के विरुद्ध अंतिम ओवर में 11 रन के लक्ष्य को डिफेंड करने वाले रबादा इंटरनेशनल क्रिकेट में एक सितारा बनकर उभरे हैं| निश्चित रूप से डेल स्टेन के साथ उनकी जोड़ी काफी खतरनाक हो सकती हैं| यदि टीम के बल्लेबाज़ी एवं क्षेत्ररक्षण में गेंदबाजों का भी समर्थन मिल गया तो निश्चित रूप से ये टीम इतिहास रच सकती हैं|

कगिसो रबादा (दक्षिण-अफ्रीका)
कगिसो रबादा (दक्षिण-अफ्रीका)

इसे भी पढ़ें : भारतीय टीम से खेलने वाले खिलाडियों के नाम

3. जेम्स फौक्नर (ऑस्ट्रेलिया): ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ी की जान कहे जाने वाले फौक्नर एक उम्दा गेंदबाज़ के साथ-साथ काफी उपयोगी बल्लेबाज़ भी हैं.|100 से भी अधिक अंतराष्ट्रीय टी20 एवं आईपीएल मैचों का तजुर्बा एवं लगभग 140-145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार इस गेंदबाज़ को बाकियों से अलग बनाती हैं| राजस्थान रॉयल्स के साथ आईपीएल में उनका अनुभव एवं डेथ ओवर में की जाने वाली ब्लाकहोल काफी हद तक उन्हें अनप्लेय्बल बनाती हैं|

जेम्स फौक्नर (ऑस्ट्रेलिया)
जेम्स फौक्नर (ऑस्ट्रेलिया)

4. एदम मिल्न (न्यूजीलैंड): शेन बांड के बाद न्यूजीलैंड के धरती से जन्म लेने वाले एक और बेहतरीन डेथ ओवर स्पेशलिस्ट| लगभग 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से आती इनस्विंग्स एवं ब्लॉकहोल को खेलने में अच्छे-खासे बल्लेबाजों को भी काफी परेशानी हो सकती हैं|डेथ ओवेर्स में उनके द्वारा दिखाए गए सूझ-बुझ एवं चालाकी न्यूजीलैंड को काफी मैच जितवा सकती हैं|

एदम मिल्न (न्यूजीलैंड)
एदम मिल्न (न्यूजीलैंड)

5. दवलत ज़रदान (अफ़ग़ानिस्तान): आंतक का पर्याय बन चुकी अफ़ग़ानिस्तान के धरती से निकल आज विश्व कप क्रिकेट में अन्य टीमो को कड़ी चुनौती देने तक के सफ़र में निश्चित तौर में ज़रदान एक हीरो के रूप में उभरे हैं| वर्तमान में विश्व के टॉप 10 गेंदबाजों में शुमार दवलत करीब 140-145 के रफ़्तार से गेंदबाजी करते हैं| अफ़ग़ानिस्तान की टीम को ख़िताब का दावेदार तो नहीं कह सकते लेकिन संभावित रूप में आने वाले दिनों में ये गेंदबाज़ कई मायने में कीर्तिमान रचने में सक्षम हैं|

दवलत ज़रदान (अफ़ग़ानिस्तान)
दवलत ज़रदान (अफ़ग़ानिस्तान)

6. तस्कीन अहमद(बांग्लादेश): 6’4” के लम्बे-चौड़े तस्कीन अभी हाल ही में संपन्न हुए एशिया कप में एक सुपरस्टार बनकर उभरे हैं. अंतिम ओवेर्स में गेम का रुख बदलने का माद्दा रखने वाले तस्कीन का सबसे बड़ा हथयार उनकी रफ़्तार हैं| बंगलादेशी प्रीमियर लीग में अपने बलभुते पर कई मैच जीता चुके तस्कीन के ऊपर पुरे विश्व-क्रिकेट की नज़र होगी|

तस्कीन अहमद (बांग्लादेश)
तस्कीन अहमद (बांग्लादेश)

खैर चाहे जो भी हो, एक आदर्श क्रिकेट प्रेमी होने के नाते क्रिकेट की इस महाकुम्भ में हम सारे टीमों के बीच एक जोरदार टक्कर देखने की उम्मीद करेंगे| ट्रेंडिंग ऑवर के समस्त परिवार के तरफ से हम भारतीय क्रिकेट टीम को शुभकामनाये देते हैं|

 

हिंदी खबर से जुड़े अन्य अपडेट लगातार पानेे के लिए हमें फेसबुक ,गूगल प्लस और  ट्विटर पर फॉलो करे|

Tredinghour

THNN (Trendinghour News Network).

Leave a Reply