क्या आपको कंडोम के इन साइड इफेक्ट्स के बारे में पता था..?

Side Effects of Condom in Hindi: क्या आपको पता है कि आखिर वो कौन सी चीज है जो सेक्स से पहले हमारे दिमाग में रहती है और जिसके बिना सेक्स करने की हम सोच ही नहीं सकते| अरे मैं लड़की की बात नहीं कर रहा..मै बात कर रहा हूँ कंडोम की| जी हाँ.. HIV एवं अन्य STD रोगों से बचाव करने वाले कंडोम का उपयोग आज इतना जरुरी हो चला है कि इसके बिना हम सेफ सेक्स की कल्पना भी नहीं कर सकते|

पर क्या आपको पता है कि कंडोम के कुछ घातक साइड इफेक्ट्स भी होते हैं जो अमुमन डॉक्टर अथवा कोई दोस्त आपको नहीं बताता|लेटेक्स से बने कंडोम के लगातार इस्तेमाल से खुजली, जलन इत्यादि जैसे समस्या भी जन्म ले सकते हैं| आइये डालते है एक नजर कंडोम के कुछ साइड इफेक्ट्स पर –

(1) खुजली एवं जलन: अमूमन सेक्स के दौरान प्राणघातक बिमारियों से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल किया जाता है परन्तु लेटेक्स से बने इसके रफ़ सरफेस के वजह से महिलाओं के गुप्तांगों में कुछ समय के बाद खुजली एवं जलन जैसे समस्या सामने आ सकते हैं| खास कर संभोग के दौड़ान पुरुषो द्वारा जोर जबरदस्ती कई बार महिलाओं के गुप्तांगो में गंभीर चोट दे सकती है|

(2) लेटेक्स से एलर्जी: ज्यादातर कंडोम्स लेटेक्स के बने होते हैं| उसी लेटेक्स से जिससे कि डॉक्टर के हाथ के दस्ताने बनाये जाते हैं| ऐसे में कई बार कई महिलाओं में लेटेक्स के प्रति एलर्जी देखने को मिलती है| दरअसल लेटेक्स की वजह से कई महिलाओं के शरीर में छाले एवं जलन की समस्या जन्म ले लेती है| ऐसे मामलों में सिंथेटिक कंडोम की मदद ले जा सकती है|

(3) अनचाहा गर्भ: हमारी एक कॉमन मानसिकता है कि कंडोम के इस्तेमाल से हम अनचाहा गर्व को रोक सकते हैं परन्तु कई बार जरुरत से ज्यादा दबाव परने के कारण कंडोम फट भी जाता है जो कि आगे चलकर अनचाहे गर्भ की एक बड़ी वजह बनती है| जी हाँ.. सही सुना आपने कंडोम भी 100% सफल नहीं होती|

(4) STD का खतरा: हालाँकि कंडोम का सबसे बड़ा फायदा STD एवं HIV के संक्रमण से बचाव है परन्तु कंडोम केवल शरीर के एक विशिष्ट भाग की ही रक्षा कर पाता है| ऐसे में जोड़े इस बात से बेफिकर सम्भोग में बरती जाने वाले अन्य सावधानियों के प्रति थोडा नकारात्मक रवैया अपनाते हैं जो आगे चलकर उनकी एक बड़ी गलती बन जाती है| कंडोम के उपयोग के बावजूद भी शरीर के अन्य भाग में वायरस एवं अन्य संक्रमण का खतरा बना ही रहता है|