Oral Sex के दौरान रखे इन बातो का ध्यान

 प्रस्तुत लेख के माध्यम से हम Oral Sex से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बातोँ पर चर्चा करेंगे|आज सेक्स के दौरान उत्तेजना एवं बढती आवेश में हम अपने पार्टनर को खुश करने हेतु सब कुछ कर गुजरना चाहते हैं|अपने पार्टनर को संतुष्ट कर अपने प्यार को और भी मजबूत बनाये रखने हेतु आज जोड़े नित दिन नए-नए प्रयोग करने से भी परहेज नहीं करते| सेक्स के दौरान फोरप्ले क जरूरतों को भी हमारे इसी हसरतो ने जन्म दिया.

अब गए वो दिन जब सेक्स का मतलब केवल इंटरकोर्स ही था| अब अपने पार्टनर को उकसाने एवं उत्तेजना के चरम तक पहुचने में जोड़े एक दुसरे के प्राइवेट पार्ट्स को चूमना, सहलाना एवं ओरल सेक्स देने तक से परहेज नहीं करते| जहाँ एक ओर सेक्स के जरिये जोड़े एक दुसरे से शारीरिक एवं मानसिक रूप से जुड़ने का प्रयास करते हैं वही दूसरी ओर Oral Sex के दौरान कुछ असावधानियो की वजह से गंभीर सेक्स रोगो को भी आमंत्रण दे देते हैं| पेश हैं एक रिपोर्ट|

क्या हैं Oral Sex :

इंटरकोर्स से परे ओरल सेक्स फोरप्ले का ही एक पार्ट होता हैं| जिसमे की पार्टनर एक दुसरे के अंगो एवं प्राइवेट पार्ट को चुमते हैं, सहलाते हैं एवं स्पर्श के सहारे अपने पार्टनर को उत्तेजित करने का प्रयास करते हैं| जानकारों के मुताबिक हमारे शरीर के कुछ सेंसिटिव पार्ट होते हैं इन्हें यदि प्यार से छुआ एवं सहलाया जाये तो ये सेक्स में होर्मोनस के स्त्राव को बढ़ा देता है|सेक्स से पहले अपने पार्टनर को इसी तरह से चूमना, सहलाना इत्यादि क्रिया को ही ओरल सेक्स कहते हैं |

Oral Sex से होने वाले खतरे

आज कई लोग यौन विविधता एवं पाश्चात्य कल्चर के बढ़ते प्रभाव में Oral Sex करते हैं परन्तु ओरल सेक्स के दौरान बरती गयी असावधानियो से आपको काफी घातक परिणाम मिल सकते हैं|

(i) यदि पुरुष एवं महिला दोनों में से किसी को भी कोई संक्रमण है तो Oral Sex के दौरान ये संक्रमण आपके पार्टनर तक भी पहुँच सकती है |

(ii) ओरल सेक्स में पार्टनर की संख्या बढ़ने से भी ओरल कैंसर होने के चांसेस बढ़ जाते हैं|

(iii) यदि महिला को माहवारी है अथवा सफेद पानी निकलने की शिकायत है तो भी Oral Sex से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता हैं|

इसे भी पढ़े: स्तनों को बनाये बड़ा और आकर्षक

(iv) ओरल सेक्स से HPV एवं HIV का संक्रमण हो सकता है| टोंसिल एवं जीभ के निचे के हिस्से में कैंसर की वजह को HPV संक्रमण ही माना जाता है|

(v) ओरल सेक्स के कारण पेपिलोमा नमक कैंसर वायरस मुँह में प्रवेश कर जाते हैं जो की मुँह एवं गले की कैंसर का एक मुख्य वजह मानी जाती है|

(vi) यदि किसी महिला के प्राइवेट पार्ट में यीस्ट (Yeast) इन्फेक्शन है तो यह इन्फेक्शन Oral Sex के माध्यम से पुरुष तक आसानी से पहुँच सकती है|

कैसे करे  Oral Sex से रोकथाम:

(i) हालाँकि Oral Sex कई बिमारियों को आमंत्रित कर सकती हैं लेकिन ओरल सेक्स के दौरान अपने साफ-सफाई का ध्यान रख हम ओरल सेक्स से होने वाले बिमारियों से काफी हद तक बच सकते हैं|

(ii) सेक्स से पूर्व अपने प्राइवेट पार्ट को अच्छे तरह से साफ-सुथरा कर धो ले एवं हो सके तो दो-तीन बूंद कीटाणु नाशक का भी प्रयोग करे|

(iii) बाजार में के तरह के टोनर एवं प्राइवेट पार्ट को डिसइन्फेक्शन बनाने वाली क्रीम आसानी से मिल जाती है जो आपके योनी के PH लेवल को बैलेंस बनाये रखते हैं|

इसे भी पढ़े:आखिर यह Flavored Condom क्या होता हैं…

(iv) किसी भी तरह के आये शारीरिक बदलाव में तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करे| कोशिश करे अपने बॉडी के कम्पलीट चेक-उप करवाने की|

ध्यान दे सेक्स केवल रिप्रोडक्शन के दृष्टिकोण से ही जरुरी नहीं वरन सेक्स से आप अपने पार्टनर के साथ भावनात्मक रूप से भी जुड़ पाते हैं| अतः कोशिश करे जोश में होश नहीं खोने की|

फ़ोटो साभार :rft

Summary
Article Name
ओरल सेक्स (Oral Sex) के दौरान रखे इन बातो का ध्यान
Description
इंटरकोर्स से परे ओरल सेक्स फोरप्ले का ही एक पार्ट होता हैं. जिसमे की पार्टनर एक दुसरे के अंगो एवं प्राइवेट पार्ट को चुमते हैं, सहलाते हैं
Author
Publisher Name
Trendinghour
Publisher Logo

Leave a Reply