हम बंगाल में मोदी की तानाशाही नहीं चलने देंगे: अशोक भट्टाचार्य

सिलीगुड़ी: भाई कुछ तो बात है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में  वरना ऐसे ही सारे राजनीतिक पार्टियाँ एवं राजनेता हर बात पर मोदी का नाम नहीं उछालते| हालाँकि मुझे राजनीति में उतनी दिलचस्पी नहीं रहती मगर फिर भी उस दिन अपने शहर के सबसे गणमान्य राजनेताओं में से एक माननीय अशोक भट्टाचार्य जी का भाषण सुन मेरी कदम वही रुक गयी| गतः बुधवार को सिलीगुड़ी शहर के प्रमुख  कचहरी रोड स्थित मुख्य डाकघर के सामने आयोजित धरना-प्रदर्शन के दौरान श्री भट्टाचार्य ने नोटबंदी और वर्तमान तृणमूल सरकार के खिलाफ काफी कुछ बोला|

माकपा के राज्य सचिव मंडली के सदस्य सह सिलीगुड़ी के मेयर अशोक भट्टाचार्य केंद्र एवं राज्य सरकार की नाकामियां गिनाते हुए कह रहे थे कि मोदी और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं| दोनों ही राजनीती में तानाशाह राजतंत्र के समर्थक है| वह बुधवार को केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की ममता सरकार पर जमकर हमला बोल रहे थे| उनका मकसद दोनो सरकारों की ज्यादतियों के विरूद्ध  जनता को आगाह करना था ताकि जनता वक़्त रहते संभल सके और सुचारू ढंग से राजतंत्र चलाने में वर्तमान माकपा सरकार का समर्थन करे|

इसे भी पढ़े:  नोटबंदी से बीजेपी विरोधियों में मची हाय-तौबा : अमित शाह

सिलीगुड़ी के मेयर जी ने जहां मोदी सरकार पर नोटबंदी के असफलताओं को लेकर निशाना साधा तो वहीं, चिटफंड घोटालों में तणमूल कांग्रेस (तृकां) के नेता-सांसदों के ऊपर भी वे जमकर बरसे| उन्होंने कहा कि नोटबंदी के नाम पर मोदी ने देश की आम जनता को हैरान-परेशान करके रख दिया पर न तो कालाधन ही सरकार के हाथ लगा और न ही आम जनता का भला हुआ| उनके शब्दों में  नोटबंदी से केवल भाजपा के नेता-मंत्री-सांसद और धनकुबेरों का ही भला हुआ|

धरना-प्रदर्शन से पहले श्री भट्टाचार्य एवं अन्य वरिष्ठ कॉमरेडों की अगुवायी में हिलकार्ट रोड स्थित जिला पार्टी मुख्यालय अनिल विश्वास भवन के सामने से विशाल रैली निकाली गयी|मेयर साहब ने ये भी कहा कि बंगाल में कमल खिलने का सपना, सपना ही रह जायेगा क्योंकि बंगाल की जनता मोदी जी के चिकनी चुपड़ी बातोँ में नहीं आने वाली| खैर जिस तरह से केंद्र एवं लोकल पार्टियाँ मोदी विरोधी बिगुल बजने में थोडा भी देर नहीं लगा रही उतनी ही तत्परता यदि वे जनता के विकास में लगा दे तो शायद हम आम जनता को थोड़ी रहत की साँस जरुर मिल जाये|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials