जब प्रमोशन के लिए पोस्टर बॉय बने थे आमिर

पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा, बेटा हमारा ऐसा काम करेगा”

साल 88 का वो दौर जब हर युवा के होंठो पर ये गीत हुआ करता था और दिल में बस एक ही नाम आमिर खान..आज भले ही अपने बेमिसाल अदाकारी एवं शानदार मूवी सेंस की वजह से मिस्टर परफेक्शनिस्ट बने आमिर एक ब्रांड बन चुके हैं परन्तु एक दौर ऐसा भी था जब अपनी मूवी के प्रचार के लिए वे मुंबई की गलियों में जा पोस्टर चिपकाया करते थे |

यूँ तो अपने फिल्म के प्रचार के लिए आज हीरोज ढेर सारे हथकंडे अपनाते हैं एवं मीडिया के विस्तार के बाद ये काम बड़ा ही आसान हो चला है परंतु एक दौर ऐसा भी था जहाँ सिनेमाहॉल तक दर्शकों की भीड़ जुटाने के लिए अभिनेताओं को काफी पापड़ बेलना पड़ता था | फिल्म “क़यामत से क़यामत तक” के प्रमोशन के लिए आमिर खान ने काफी यूनिक आईडिया ढूंडा था |

इसे भी पढ़े: अब 3 इडियट्स का सीक्वल बनायेंगे आमिर खान

उस वक़्त एक बड़ी आबादी डेली ट्रांसपोर्ट के लिए रिक्शा एवं टैक्सी का इस्तेमाल करती थी | ऐसे में तड़के सुबह आमिर निकल जाते अपने साथ अपनी फिल्म के पोस्टर लेकर एवं रिक्शावालों ,टैक्सीवालों को मना कर उनके गाड़ी के पीछे फिल्म का पोस्टर लगाया करते थे | आज भले ही आमिर को ये सब करने की कोई जरुरत नहीं परन्तु एक समय में पोस्टर बॉय बने आमिर की मेहनत का ही नतीजा था कि बॉलीवुड में ये पिक्चर एक मील का पत्थर साबित हुयी | सच में आमिर तुम वाकई में मिस्टर परफेक्शनिस्ट हो |

एंटरटेनमेंट सम्बंधित जुडी ऐसे ही ढेर सारे मजेदार गॉसिप के लिए हमारे एंटरटेनमेंट पेज से जुड़ना न भूले.

फोटो साभार: etcfn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials