ब्रेड से हो सकता है कैंसर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिए जाँच के आदेश

नई दिल्ली: यदि आप ब्रेड खाते हैं तो हो जाए सावधान क्यूँकि ब्रेड खाने से कैंसर हो सकता है। सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट (Centre for Science and Environment) ने एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें दावा किया गया है कि उसे टेस्ट में ब्रेड के सैंपलों में ऐसे कैमिकल मिले हैं, जो कैंसर जन्म दे सकते हैं। बहरहाल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने ये ख़बर मिलते ही जांच के आदेश दे दिए हैं। जबकि Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) ने कहा है कि वह ऐसे कैमिकल के इस्तेमाल पर रोक लगाएगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि मैंने देखा कि सीएसई ने एक रिपोर्ट भेजी है, जिसमें उन्होंने ब्रेड को लेकर उक्त बातें कही गई है। मैंने अपने अधिकारियों को कहा है कि इसकी तुरंत जांच कीजिए। FSSAI इस मामले को देख रहा है। मैं ये जरूर कहना चाहूंगा कि ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। सरकार जल्द ही इसके डिटेल देखकर जो भी उचित कदम उठाने होंगे उठाएगी।

ऐसे केमिकल का होता है उपयोग, जो ज्यादातर देशों में है बैन :

सीएसई के रिपोर्ट के मुताबिक देश में ब्रेड बनाने वाली कंपनियां आटे का प्रोसेस करने के लिए पोटेशियम ब्रोमेट और पोटेशियम आयोडेट का उपयोग करती हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है,

ज्यादातर देशों में ब्रेड निर्माण उद्योग में इन रसायनों के उपयोग पर पाबंदी है, क्योंकि वे लोक स्वास्थ्य के लिए Danger पदार्थों की सूची में आते हैं। इनमें से एक केमिकल 2बी कार्सिनोजेन श्रेणी में आता है, जबकि दूसरे से थॉयराइड ग्रंथि में खराबी आती है। यदपि भारत में इन पर पाबंदी नहीं लगाई गई है।

इसे भी पढ़ें : जॉनसन & जॉनसन ने भी माना उनके पाउडर में है कैंसर पैदा करने वाले तत्व

84 फीसदी सैंपल में खतरनाक केमिकल :
सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट ने बाजार में आम तौर पर मिलने वाले 38 ब्रांड के ब्रेड, पाव और बन, रेडी-टू-ईट बर्गर ब्रेड और राजधानी दिल्ली के लोकप्रिय फास्ट फूड आउटलेटों के रेडी-टू-ईट पिज्जा ब्रेड के नमूनों की जांच की। Centre for Science and Environment के उप महानिदेशक चंद्र भूषण ने कहा, ‘हमने 84 प्रतिशत नमूनों में पोटेशियम ब्रोमेट या आयोडेट पाए। कुछ नमूनों में हमने दूसरे प्रयोगशालाओं से भी इनकी मौजूदगी की पुष्टि की।

सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट के रिपोर्ट के महत्वपूर्ण पहलु : 

  • दिल्ली के लगभग सभी मशहूर ब्रांड का सैंपल टेस्ट किया
  • 84 प्रतिशत ब्रांड टेस्ट में फेल हुए
  • ब्रेड में हो रहा पोटैशियम ब्रोमेट, पोटैशियम आयोडेट का इस्तेमाल
  • पोटैशियम ब्रोमेट, पोटैशियम आयोडेट दोनों केमिकल 2B कार्सिनोजेन कैटेगरी के हैं |
  • पोटैशियम ब्रोमेट से कैंसर होने की संभावना रहती है और पोटैशियम आयोडेट से थाइरॉइड का ख़तरा रहता है | इन दोनों केमिकल पर फौरन पाबंदी का सुझाव |

न्यूज़ सोर्स : http://khabar.ndtv.com/news/india/breads-you-eat-every-day-contains-cancer-causing-chemicals-study-1409202

हिंदी खबर से जुड़े अन्य अपडेट लगातार पानेे के लिए हमें फेसबुक ,गूगल प्लस और  ट्विटर पर फॉलो करे|

Summary
Review Date
Reviewed Item
ब्रेड
Author Rating
31star1star1stargraygray

Leave a Reply