फिल्म समीक्षा: बाबूमोशाय बंदूकबाज

फैसल..फैसल खान नाम हैं हमरा..भाई Gangs Of Wasseypur देखने के बाद ऐसा शायद ही कोई होगा जो नवाज भाई के एक्टिंग का फेन न हो| एक के बाद एक क्लासिक एवं कमर्शियल मूवीज से लोगो का दिल जितने वाले नवाज भाई की इस शुक्रवार एक और मूवी रिलीज़ हुयी हैं| नाम हैं ” बाबूमोशाय बंदूकबाज“| आइये डालते हैं एक नजर दिलचस्प प्लाट एवं जानदार एक्टिंग से सजी इस मूवी की समीक्षा (Babumoshai Bandookbaaz Movie Review in Hindi) हमारे फिल्म समीक्षक रागनी मल्होत्रा की जुबानी|


Babumoshai Bandookbaaz Movie Review in Hindi


नवाज और बिदिता के बीच एक हॉट दृश्य
नवाज और बिदिता के बीच एक हॉट दृश्य

बाबूमोशाय बंदूकबाज एक नजर


स्टार कास्ट : नवाजुद्दीन सिद्दीकी, बिदिता बाग,श्रद्धा दास, जतिन गोस्वामी, दिव्या दत्ता और अनिल जॉर्ज
डायरेक्शन: कुशन नंदी
टाइप:एक्शन
फिल्म अवधी:2 घंटा 02 मिनट्स

फिल्म की कहानी


मूवी देखकर थिएटर से बाहर निकल रहे रवि की माने तो साफ़ लफ्जो में “यह मूवी उनको बहुत पसंद आएगी जिन्हें गैंग्स ऑफ़ वासेपुर टाइप मूवी पसंद हैं मगर हाँ फॅमिली के साथ यह मूवी देखने जाने की भूल न करे, इसके कुछ दृश्य काफी उत्तेजक हैं”

यह कहानी है बाबू बिहारी (नवाजुद्दीन) और बांके बिहारी (जतिन) नाम के दो कॉन्ट्रैक्ट किलर्स की जो पैसे के एवज में एनकाउंटर करते हैं| हालाँकि कॉन्ट्रैक्ट किल्लिंग की बात की जाए तो बाबू बिहारी को बांके अपना आदर्श मानता हैं और उन दोनों में नंबर वन किलर बनने की होड़ लगी रहती हैं| फिल्म में दिलचस्प मोड़ तब आता है जब दोनों के टारगेट एक हो जाते हैं। दोनों को एक खास शख्स की हत्या की सुपारी मिल जाती है। जब दोनों को यह पता चलता हैं तो दोनों के बीच यह शर्त लगती हैं जो ज्यादा लोगो को मारेगा वही नंबर वन किलर कहलाएगा। हालांकि दोनों इस बात से बिलकुल अनजान रहते हैं कि उनकी प्रतिस्पर्धा के बीच एक खेल और खेला जा रहा है। अब वो खेल कौन सा है इसे जानने के लिए तो आपको अपने नजदीकी सिनेमा घरों में जाना ही परेगा|


एक्टिंग की क्लास:


भाई जिस फिल्म में नवाज भाई हो उस फिल्म में एक्टिंग की क्या बात की जाये| हर बार के तरह इस बार भी नवाज ने अपने एक्टिंग से इस फिल्म में जान डाल दी हैं| अभिनय, डायलाग डिलीवरी एवं मजाकिया लहजों में गंभीर बाते कह जाना निश्चित रूप से नवाज का प्लस पॉइंट रहा हैं| एक गरीब मोची के चरित्र को परदे में उतारती बिदिता ने भी नवाज का बखूबी साथ निभाया हैं| फिल्म देखकर यह नहीं लगती कि यह इन दोनों की पहली फिल्म हैं| बांके के रूप में जतिन दास ने भी UP के पृष्ठभूमि में पनप रहे इस गोरखधंधे को बखूबी परदे पर उतरा हैं|  हाय रे हाय मेरा घुंघटा में श्रद्धा ने पूरा हाल में डांस करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ीं| लोकल बहनजी के रोल में दिव्या दत्ता ने भी अपने अभिनय कौशल के विर्रुध औसत काम किया है।


फिल्म का डायरेक्शन:


कहना लाजमी ही होगा कि फिल्म बाबूमोशाय बंदूकबाज, नवाज की बेहतरीन फिल्मों में से एक हैं| कुशन नंदी के बेहद महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में से एक इस फिल्म के साथ तो इन्साफ करते नजर आते हैं मगर साथी स्टाफ से एक्टिंग निकलवाने में उन्हें थोड़ी और मस्सकत करने की जरुरत थी, जहाँ वे थोडा कमजोर साबित हो गए| बिदिता जहाँ सेक्सी सीन में काफी दमदार दिखी हैं तो वही नवाज ने भी अपने अभिनय से कही भी परेशान करते नहीं दिखते|


क्यूँ देखे:


(1) ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ में भरपूर एक्शन हैं| उत्तर प्रदेश के एक ग्रामीण परिवेश में शूट हए बेहतरीन स्टंट आपको रोमांच से भर देगी| यदि आपको एक्शन फिल्म काफी ज्यादा अच्छी लगती हैं तो बाबूमोशाय बंदूकबाज खास आपके लिए ही हैं|

(2) फिल्म में नवाज एवं बिदिता की केमिस्ट्री देखती ही बनती हैं| इस फिल्म में दोनों के बीच कुछ गरमा गरम सेक्स सीन परोसे गए हैं जो आपको एंटरटेन करने के लिए काफी हो सकती है|


क्यूँ न देखे:


(1) यह एक एक्शन मूवी है| यदि आपको एक्शन मूवी और नवाज की एक्टिंग कुछ ज्यादा प्रभावित नहीं करती तो फिर आप इस हफ्ते रिलीज़ किसी और मूवी को देखने जा सकते हैं|

(2) कहानी की शुरुवात काफी अच्छी रही हैं| जतिन, नवाज, बिदिता एवं श्रद्धा सबकी एक्टिंग काफी अच्छी हैं मगर फिल्म का दूसरा भाग कही न कही बोर कर देता हैं| हालाँकि इसकी भरपाई क्लाइमेक्स में हो जाती हैं|

(3) सिनेमा हॉल से बाहर निकल रहे विवेक की माने तो इस फिल्म का USP रही बर्फानी गीत के साथ साथ फिम्ल में कही कही जबरदस्ती के सेक्स सीन डाल दिए गए हैं जो इस मूवी को परिवार के साथ देखने लायक नहीं बनाती


जाते-जाते


यह मूवी निश्चित तौर से काफी लोगो को गैंग्स ऑफ वासेपुर टाइप की मूवी लगी हो मगर यह बात मन में बैठाकर थियेटर जाइए कि नवाज भाई किसी बेजान से स्क्रिप्ट में भी अपनी अभिनय से जान डाल देते हैं| फिल्म की ग्रामीण पृष्ठभूमि, फुलवा के रूप में बिदिता का अल्हरपन एवं नवाज की एक्टिंग के अलावा भरपूर मार धार एवं गरमा गरम सेक्स सीन इस मूवी की USP है| हालाँकि यदि कहानी और स्टार कास्ट में थोडा और ध्यान दिया जाता तो शायद यह मूवी और भी अच्छी बनती| इस मूवी को हमारी फिल्म समीक्षा टीम देती हैं 5 में से 3 अंक|

हर हफ्ते रिलीज़ होने वाले सबसे ताजा एवं विश्वशनीय मूवी रिव्यु के बारे में जानने के लिए हमारे मूवी रिव्यु पेज पर बने रहे|

Summary
Review Date
Reviewed Item
फिल्म समीक्षा: बाबूमोशाय बंदूकबाज
Author Rating
31star1star1stargraygray

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials