‘वफ़ा ने बेवफाई’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने

‘वफ़ा ने बेवफाई’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने : वफ़ा ने बेवफाई अरिजीत सिंह,नीति मोहन,सुज़न्ने डी मेल्लो  द्वारा गाए इस गाने को कंपोज़ किया है हिमेश रेशम्मिया ने जबकि सगीत लिखा है समीर अनजान ने |

गायक :  अरिजीत सिंह,नीति मोहन,सुज़न्ने डी मेल्लो
संगीत:   हिमेश रेशम्मिया
बोल:     समीर अनजान
रिलीज़ कम्पनी : टी सीरीज

 

इक डोर वोह था मुझसे भी ज्यादा
उनको फिकर थी मेरी…
कहते ठे मुझसे रुखसत न होंगे
मिलके दोबारा कभी….

अब तोह गैरों से मेरा हाल पूछा जाता है
यही दर्द-इ-दिल मेरे दिल को रुलाता है

वफ़ा ने बेवफाई … बेवफाई …
बेवफाई की है 3

वफ़ा ने बेवफाई….

When I look into your eyes
Baby I m in paradise
We could take you to skies
we could make you and I 2

मेर आशिकुई यह, रब्ब  के हवाले
रूठे यार को बस , कोई मन ले
यादों की सूली दिल में, गड जाती है

इक दौर वोह था मुझसे भी ज्यादा
उनको फिकर थी मेरी..
कहते थे मुझसे रुखसत न होंगे
मिलके दोबारा कभी…

अब तोह गैरों से मेरे हाल पूछा जाता है
यही दर्द – इ – दिल मेरे दिल को रुलाता है

वफ़ा ने बेवफाई, बेवफाई
बेवफाई की है 3
वफ़ा ने बेवफाई…

कुछ बातें ऐसी होती हैं
जिनको बयान करना…
लफ़्ज़ों में, नामुमकिन होता है
जब वफ़ा में , वफ़ा होती है
कोई न कोई, वजह होती है
कोई न कोई, वजह होती है

क्यूँ फासलों में, नजदीकियां हैं
क्यों ज़िन्दगी में, तब्दीलियाँ
क्यूँ तनहा दिल यह मेरे मुझसे कहे
ये सिलसिला बस यूँही चलता रहे

जाने क्या हुआ है जिसकी वजह से
मंजिलें जुदा सी लग रही
अनजानी राह पे दिल ये क्यूँ
खुद को पाटा है

यही दर्द –इ – दिल मेरे दिल को रुलाता है
वफ़ा ने बेवफाई, बेवफाई
बेवफाई की है 3
वफ़ा ने बेवफाई…

Summary
Review Date
Reviewed Item
‘वफ़ा ने बेवफाई’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने
Author Rating
41star1star1star1stargray

Leave a Reply