‘गेरुआ ‘ फ़िल्म ‘दिलवाले’ से लिरिक्स एंड गाने

‘गेरुआ ‘ फ़िल्म ‘दिलवाले’ से लिरिक्स एंड गाने : गेरुआ  अरिजीत सिंह, अन्तर मित्र  द्वारा गाए इस गाने को कंपोज़ किया है प्रीतम   ने जबकि सगीत लिखा है  अमिताभ भट्टचार्य    ने |

गायक : अरिजीत सिंह
संगीत:   प्रीतम 
बोल:   अमिताभ भट्टचार्य 
रिलीज़ कम्पनी : सोनी म्यूजिक इंडिया

धुप से निकल के
छाँव से फिसल के
हम मिले जहां पर
लम्हा थम गया

आसमान पिघल के
शीशे में ढल के
जैम गया तो तेरा
चेहरा बन गया

दुनिया भुला के तुमसे मिला हूँ
निकली है दिल से ये दुआ
रंग दे तू मोहे गेरुआ
रांझे की दिल से है दुआ
रंग दे तू मोहे गेरुआ

हाँ निकली है दिल से ये दुआ
हो… रंग दे तू मोहे गेरुआ
हो तुमसे शुरू… तुमपे फना
है सूफियाना यह दास्तान
मैं कारवां मंजिल हो तुम
जाता जहां को हर रास्ता

तुमसे जुदा जो
दिल ज़रा संभल के
दर्द का वो सारा
कोहरा छान गया

दुनिया भुला के तुमसे मिला हूँ
निकली है दिल से यह दुआ
रंग दे तू मोहे गेरुआ
हो.. रांझे की दिल से है दुआ
रंग दे तू मोहे गेरुआ

ओ… वीरान था, दिल का जहां
जिस दिन से तू दाखिल हुआ
इक जिस्म से …. इक जान का….
दर्ज़ा मुझे हासिल हुआ
हाँ… फीके हैं सारे

नाते जहां के
तेरे साथ रिश्ता गहरा बन गया
दुनिया भुला के तुमसे मिला हूँ
निकली है दिल से यह दुआ
रंग दे तू मोहे गेरुआ
रांझे की दिल से है दुआ

रंग दे तू मोहे गेरुआ
हाँ निकली है दिल से ये दुआ
हो… रंग दे तू मोहे गेरुआ

Summary
Review Date
Reviewed Item
'गेरुआ ' फ़िल्म ‘दिलवाले’ से लिरिक्स एंड गाने
Author Rating
41star1star1star1stargray