‘बेखुदी’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने

‘बेखुदी’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने : बेखुदी  दर्शन रावल, अदिति सिंह शर्मा  द्वारा गाए इस गाने को कंपोज़ किया है हिमेश रेशम्मिया ने जबकि सगीत लिखा है समीर अनजान ने |

गायक :  दर्शन रावल, अदिति सिंह शर्मा
संगीत:   हिमेश रेशम्मिया
बोल:     समीर अनजान
रिलीज़ कम्पनी : टी सीरीज

 

बेखुदी….. बेखुदी….
मेरे दिल पे ऐसी छाई
तू ही तू मुझमे समायी
बन गयी मेरी खुदाई बेलिया

दुनिया हो जाए परायी
न देना मुझको रिहाई
अब कुबूल न जुदाई बेलिया

बेखुदी… बेखुदी…
मेरे दिल पे ऐसी छाई
तू ही तू मुझमे समायी
बन गयी मेरी खुदाई बेलिया

दुनिया हो जाए परायी
न देना मुझको रिहाई
अब कुबूल न जुदाई बेलिया

जहाँ जहाँ तेरा चेहरा
वहां वहां मेरी आखें
सोचती  हु अक्सर मैं तोह
लम्हा लम्हा तेरी बातें

बेखुदी… बेखुदी…
मेरे दिल पे ऐसा छाया
तू ही तू मुझमे समाया
बन गया तू मेरा साया बेलिया

दुनिया हो जाए परायी
न देना मुझको रिहाई
अब कुबूल न जुदाई बेलिया

बेखुदी… बेखुदी…

क़तर सा मुख़्तसर है , इसे सीने से यूँ लगाना
बागी नहीं ये आशिक तेरा, है दिल को न आज़माना
बेनजीर तुझ सा, कोई न जहाँ में
तोहमतों से रहना तू अब जुदा

बेखुदी… बेखुदी…

मेरे दिल पे ऐसी छाई
तू ही तू मुझमे समायी
बन गयी मेरी खुदाई बेलिया

दुनिया हो जाए परायी
न देना मुझको रिहाई
अब कुबूल न जुदाई बेलिया

बेखुदी… बेखुदी…
धुन्दले हुए हैं मंज़र मेरे
तू राहें इन्हें दिखाना
जो जीरो से वास्ता है मेरा

तू रहमत का है फ़साना
कागजों पे जैसे, बिखरी है सियाही
कहानी तू अपनी यूँ कर बयान

बेखुदी.. बेखुदी..

मेरे दिल पे ऐसी छाई
तू ही तू मुझमे समायी
बन गयी मेरी खुदाई बेलिया
दुनिया हो जाए परायी

न देना मुझको रिहाई
अब कुबूल न जुदाई बेलिया
बेखुदी … बेखुदी…

Summary
Review Date
Reviewed Item
‘बेखुदी’ फ़िल्म ‘तेरा सुरूर’ से लिरिक्स एंड गाने
Author Rating
41star1star1star1stargray

Leave a Reply