‘आँखें मिलायेंगे डर से ’ फ़िल्म ‘नीरजा’ से लिरिक्स एंड गाने

‘आँखें मिलायेंगे डर से ’ फ़िल्म ‘नीरजा’ से लिरिक्स एंड गाने :आँखें मिलायेंगे डर से के  मोहन , नेहा भसीन द्वारा गाए इस गाने को कंपोज़ किया है  विशाल खुराना ने जबकि सगीत लिखा है  प्रसून जोशी   ने |

गायक : के  मोहननेहा भसीन
संगीत:   विशाल खुराना
बोल:    प्रसून जोशी
रिलीज़ कम्पनी : टी सीरीज

 

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे
सुगंधिम पुष्टिवर्धनम
उर्वारुकमिव बन्धनं
मृत्योर मुक्षीय मामृतात

आँखें मिलायेंगे डर से
आँखें मिलायेंगे डर से

गुजरेंगे मुश्खिलों के मोहल्ले से
निकले हैं जूनून लेके घर से

आँखें मिलायेंगे डर से
टपके नज़र से बेखौफ्फ़ बारिश

कुछ फैसलों का मौसम है आया
साँसों ने मुझको

जीने का मतलब समझाया
धज्जी धज्जी रात उद्द गयी

रोशन रोशन सुबह हो  गयी
डर इ ऐसी कम तैसी

ऐसी कम तैसी कम
डर तेरा टाइम ख़तम

Let’s get this straight buddy
Darr is a nobody
A….. aukat, him…. Himmat
Open eyes no, shut

डर से बोलो चल हट … चल हट… चल हट ….
डर से बोलो चल हट …. चल हट …..

आँखें मिलायेंगे डर से, डर से……
गुजरेंगे मुश्किलों के मोहल्ले से मोहल्ले से….

निकले हैं जूनून लेके घर से, घर से….
आँखें मिलायेंगे डर से
आँखें मिलायेंगे डर से

Summary
Review Date
Reviewed Item
‘आँखें मिलायेंगे डर से ’ फ़िल्म ‘नीरजा’ से लिरिक्स एंड गाने
Author Rating
41star1star1star1stargray

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials