‘आज रो लेन दे’ फ़िल्म ‘1920’ से लिरिक्स एंड गाने

‘आज रो लेन दे’ फ़िल्म ‘1920’ से लिरिक्स एंड गाने : आज रो लेन दे  शरीब – शबरी   द्वारा गाए इस गाने को कंपोज़ किया है शरीब – तोशी  ने जबकि संगीत लिखा शरीब – तोशी , कलीम शेख ने |

गायक : शरीब – शबरी  
संगीत:  शरीब – तोशी
बोल:   शरीब – तोशी , कलीम शेख
रिलीज़ कम्पनी : टी सीरीज

 

आज रो लें दे वे जी भरके
मेरी साँसों से दगा करके
तू गया मुझको फना करके वे जानिया

मेरा ज़ख्म – ए – दिल हरा करदे
इस ग़म की अब वफ़ा करदे वे जानिया
नज़रों को बा वफ़ा करदे वे जानिया

आदत है तेरी
या तेरा नशा है
कैसे बताऊँ तुझको रहबर

वे आज रो लें दे वे जी भरके
मेरी साँसों से दगा करके
तू गया मुझको फना करके वे जानिया

साँसों को तेरी ज़रुरत
करे कैसे ब्यान कोई
दिल बीमार – ए- मोहब्बत
बस चाहता थोड़ी राहत है

हूँ मैं दरिया तू साहिल है वे जानिया
वे आज रो लें दे वे जी भर के

मेरी साँसों से दगा करके
तू गया मिझ्को फन्ना करके ओ … जानिया
वे जानिया… ओ जानिया…

ह्म्म्म… जिंदा हूँ है मुझको हैरत
मैं तेरे बिन जिया कैसे
ह्म्म्म… साँसों ने की ऐसी जुर्रत

ज़हर हंस के पिया कैसे
तेरे दर्द से मेरी निस्बत है
तेरी यादों की हसीं सोहबत है
अश्कों से दिल को टार करदे
मेरी आहों में असर भर्डे

मेरी नज़रों पे नज़र करदे वे जानिया
वे आज रो लें दे वे जी भर के
मेरी साँसों से दगा करके
तू गया मुझको फना करके

Summary
Review Date
Reviewed Item
‘आज रो लेन दे’ फ़िल्म ‘1920’ से लिरिक्स एंड गाने
Author Rating
41star1star1star1stargray