डिप्रैशन मौत के दरवाजे तक ले जाती है…कैसे बचें इससे

How to Overcome Depression in Hindi: अखबारों में रोज छपती आत्महत्याओं की ख़बरें इस विषय पर ज़ोर देने पर मजबूर करती हैं कि आखिर ऐसा क्या होता है कि लोग खुद को खत्म करने का इतना बड़ा फैसला उठा लेते हैं। आज हम यहाँ आपको डिप्रेशन के बारे में ही बताने जा रहे हैं कि कैसे आप इससे बाहर आये या फिर इसको हैंडल करें।

डिप्रेशन क्या है ( What is Depression)

अगर आप काफी लंबे टाइम से दुखी हैं और आपका किसी चीज में मन नहीं लगता है तो ये डिप्रेशन माना जाता है अमूमन हम दुखी होते हैं लेकिन 3 से 4 दिन के बाद हम फिर से नार्मल हो जाते हैं लेकिन डिप्रेशन से पीड़ित व्यक्ति के साथ ऐसा नहीं होता है वह समय के साथ और दुखी होता जाता है। उसे ऐसा लगता है जैसे उसकी दुनिया खत्म हो गई हो। यदि इसका इलाज नहीं किया जाता है तो बात मौत के दरवाजे तक पहुँच सकती है।

सिलेब्रिटीज भी हुये हैं डिप्रैशन का शिकार

ऐसा नहीं है कि सिर्फ आम लोग बल्कि हमारे बालीवुड सिलेब्रिटीज भी इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। यहाँ तक की बालीवुड की सबसे सुंदर हीरोइन दीपिका पादुकोण भी इससे अछूती नहीं हैं। लेकिन इससे बाहर निकलना ज्यादा मुश्किल काम नहीं है अगर आप स्ट्रांग विल पावर रखते हैं और समय पर इसे पहचान लेते हैं तो…

इसे भी पढ़े: कैसे निकलें अपनी हार के गम से बाहर

डिप्रेशन के कॉमन कारण ( Causes  of Depression) 
  • नौकरी छूट जाना
  • कम मार्क्स आना
  • गर्लफ्रेंड या बायफ्रेंड का जिंदगी से चले जाना
  • तलाक
  • किसी प्रियजन की मृत्यु हो जाना
  • रुपए पैसे की दिक्कत इत्यादि

How to Overcome Depression in Hindi

क्या होता है डिप्रेशन में चले जाने के बाद (Symptoms of depression) 
  • लगातार उदासी
  • कहीं मन का नहीं लगना
  • भूख ना लगना
  • खुद की देखरेख नहीं करना
  • बेचैनी और चिड़चिड़ापन लगातार बने रहना
  • खुद की जिंदगी को बेकार समझना
  • नींद ना आना
  • तेज सिरदर्द रहना
  • वजन गिरना

इसे भी पढ़े: शवासन का प्रयोग कर कहें नेगेटिव एनर्जी को बाय-बाय

कैसे निकले बाहर डिप्रेशन से (Treatment for Depression) 

इस बीमारी से बाहर निकलने के लिये सबसे पहले जरुरत है आपको इसे पहचानने की । अगर आप इसे हल्के में लेते हैं और इस बीमारी के बारे में जानकारी नहीं रखते हैं तो ये डिप्रैशन आपको मौत के दरवाजे तक ले जा सकता है।

  • सबसे पहले अपने डॉक्टर से मिलें अगर किसी वजह से या फिर बिना किसी वजह के भी बहुत ही ज्यादा उदासी रहती है। इसके लिये डाक्टर आपको दवाईयाँ देंगे जो आपके दिमाग में पल रहे तनाव को कम करेंगी। आपको खुश रहने और सोने में मदद करेंगी ।
  • खुद को उदासी और तनाव से बाहर लाने के लिये आप वो करना शुरु करें जो काम आपको खुशी देता है यानी जो भी आपका मन करे वो।
  • अपने दर्द को बांटना सीखें अपनो के साथ। इससे आपको उससे लड़ने की ताकत मिलती है।
  • इसके अलावा ऐसे लोगों से मिले जो आपको मोटिवेट कर सकें। आप जिस भी किसी को सुनना चाहते हों जैस कोई आपका फेवरेट एक्टर या एक्ट्रेस हो उनका इंटरव्यू देखें और सुनें जिससे आपको पॉजिटिविटी मिलती हो।
  • अच्छा सोचें मन के अंदर। खुद को ऊर्जावान बनाये रखें। रोज एक्सरसाइज करें और खुद से प्यार करना सीखें।

डिप्रैशन ऐसी बीमारी नहीं है जो ठीक नहीं हो सकती है। बस आपको जरुरत है इसकी जानकारी होना और विल पावर होना। खुद से प्यार और सिर्फ आगे बढ़ते रहने के बारे में सोचें |

Image : Statenews

Summary
Article Name
डिप्रैशन मौत के दरवाजे तक ले जाती है...कैसे बचें इससे
Author
Publisher Name
Trendinghour.com

Nandini Singh

नंदिनी सिंह ट्रेंडिंगऑवर में एडिटोरियल प्रड्यूसर हैं|