ध्यान दें कहीं आपका मोटापा आपकी सेक्सुअल लाइफ बर्बाद न कर दे

खान-पान में अरुचि एवं भागमभाग लाइफस्टाइल के बीच खुद के लिए टाइम निकालना काफी मुश्किल हो जाता है .बेहतर आहार एवं जीवन में घटते व्यायाम एवं कसरतो के अभाव में एक उम्र ढलते हमारा शरीर विभिन्न तरह के रोगों से पीड़ित हो जाता है. ऐसे रोगों में मोटापा सबसे अहम् है. मोटापा की वजह से ही आज एक बड़ी आबादी मुश्किल में नजर आ रही है और हो भी क्यों न आखिरकार मोटापा रहित रोग हमारे जीवन को निरासा से भर देती है |

मगर थोडा ध्यान दे मोटापा न सिर्फ हाई ब्लड प्रेशर, सुगर एवं अन्य ह्रदय सम्बंधित विकारो को जन्म देती है वरन सेक्सुअल रिलेशनशिप में भी मोटापा की वजह से काफी परेशानी आ सकती है | पेश हैं एक रिपोर्ट.

मानसिक प्रभाव:

ध्यान दे सेक्स एक आर्ट है एवं बिस्तर में इस कला में माहिर होने हेतु आपकी शारीरिक एवं मानसिक क्षमता काफी हद तक जिम्मेदार होती है. मोटापे की वजह से हम बिस्तर में उतने चुस्त एवं उर्जावान नहीं रह पाते जो स्वाभाविक तौर पर हमारे शारीरिक संबंधो को प्रभावित करती है |

सेक्स के दौरान आपकी इच्छा-शक्ति काफी कुछ बयां करती है | यदि आप सेक्स में अपने मोटापे के वजह से बेहतर नहीं कर पा रहे हैं तो ये आपके इच्छा-शक्ति पर भी असर डालती है एवं वक़्त रहते यदि इसका इलाज नहीं किया गया तो धीरे-धीरे सेक्स करने की इच्छा भी ख़तम हो सकती है |

स्वाभाविक रूप से एक पुरुष के लिए सबसे बड़ी गाली होती है उसकी मर्दानगी के ऊपर सवाल उठाना. अपने जीवन संगनी को संतुष्ट नहीं कर पाने का मलाल आपको बुरी तरह से झकझोर सकता है जो निश्चित रूप से आपके परफॉरमेंस पर असर डालेगी.

शारीरिक प्रभाव:

मोटापे के वजह से हमारे मेटाबोलिज्म पर एक खासा प्रभाव पड़ता हैं. ध्यान दे सेक्स के दौरान आपका मोटापा बिस्तर में विभिन्न तरह के सेक्स आसनों को अपना एक बेहतर सेक्स अनुभव के आपके सपनो को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है |

आपका मोटापा हाइपर टेंशन, मधुमेह एवं अन्य वैस्कुलर डिसफंक्शन की एक मुख्य वजह होती है, हो सकता है की इसके वजह से अन्य तरह के सेक्स विकार जैसे की शीघ्रपतन, उत्तेजना में कमी एवं लिंग में इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसे शिकायते सामने आ जाए |

एक बेहतर उत्तेजित एहसास हेतु हमे सेक्स के दौरान टेसटेसटोरोन होर्मोनस एवं ब्लड की एक रेगुलर सप्लाई की आवश्यकता परती है | परन्तु हाइपरटेंशन एवं ह्रदय की पम्पिंग डिसेबिलिटी ऐसा नहीं कर पाती. स्वाभाविक रूप से होर्मोनस की कमी हमें उत्तेजना से बाधित करती है एवं उचित मात्रा में हमारे लिंग तक रक्त नहीं पहुच पाने के कारण लिंग में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की भी शिकायत हो सकती हैं. दोनों ही कारण सेक्स के लिए खतरनाक साबित हो सकती है |

ध्यान दे एक संतुलित एवं पौष्टिक आहार शैली तथा जीवन में योग,कसरत इत्यादि के प्रभाव से इन विकारो को काफी हद तक दूर किया जा सकता हैं. साथ ही किसी भी तरह के स्वस्थ्य जनित रोगों में तुरंत मेडिकल सलाह लेना न भूले. याद रहे वक़्त रहते आपके द्वारा दिखाई गयी छोटी सी जागरूकता एवं सूझ-बुझ भविष्य में होने वाले विकट परिस्थितियों में आपको बचा सकती हैं.

Tredinghour

THNN (Trendinghour News Network).

Leave a Reply