Ohh My God मुझे तो पता ही नहीं था कि हँसने के इतने फायदे होते हैं

हँसना एवं लाइट मूड में रहना कौन नहीं चाहता | आज के इस भागम-भाग भरे संसार में रात ढलते बस एक ही बात दिमाग में रह जाती है, कल की टेंशन… क्या होगा…?, कैसे मैं ये कर पाऊँगा..? इत्यादि जैसे सवालों को ढूंढने में हम अपनी पुरी ज़िन्दगी ख़त्म कर बैठते हैं | परन्तु इस बीच हँसने-गाने का कोई मौका आ जाए तो हम चुकते भी नहीं | जीवन में आनंद के कुछ पलों को आपके अध्याय से जोड़ती ये हँसी न सिर्फ आपके व्यक्तित्व में चार चाँद लगाती है बल्कि सामने वाले को भी अपने सारे गमों को भुल थोड़ा रिलैक्स करने पर मजबूर कर देती है |

आज हम में से बहुत सारे लोग हँसने पर भी पाबंदियां लगाना चाहते हैं | आइऐ डालते हैं एक नजर हँसने के कुछ फायदों पर जो आपके स्वास्थ्य-शैली की गुणवत्ता को काफी हद तक बढ़ाने में मदद करेगा |

हँसने से दिमाग के नर्व रिलैक्स्ड होते हैं | जिससे की आपको मानसिक शान्ति मिलती है | इससे आपकी याददाश्त शक्ति में भी बढ़ोतरी होती है |

1. लोगों से हल्का-फुल्का मजाक करना एवं दुसरों को हँसाने की आपकी काबिलियत आपके व्यक्तित्व को लाइट बनाती है | एक बढ़िया सेंस ऑफ़ ह्यूमर होने की वजह से आपकी मेंटलिटी भी ब्रॉड होती है |

2. हल्की-फुल्की हँसी आपके स्लीप कण्ट्रोल में भी काफी लाभदायक होती है | थकान,अनिंद्रा जैसी बिमारियों में हँसी काफी मदद पहुँचा सकती है |

3. ध्यान दें आपका दिमाग जितना शांत होगा आप उतना ही क्रिएटिव हो पाएंगे | आपके दिमाग को सुकून पहुँचाती चंद मिनट की मुस्कान की वजह से आपमें प्रॉब्लम सोल्विंग एबिलिटी के साथ-साथ क्रिएटिविटी भी आती है |

4. जरुरत से ज्यादा टेंशन लेने की वजह से कभी-कभी हम डिप्रेस्ड हो जाते हैं | तनाव एवं अवसाद में आपकी हँसी एक राम-बाण का काम करती है |

5. हँसने से शरीर में endorphins का स्त्राव होता है जो की आपको एक positivity देता है | पॉजिटिव लाइफ के लिए यही हॉर्मोन रिस्पोंसिबल होता है |

6. हार्ट अटैक से बचने में भी हँसी का काफी अहम रोल होता है | आपकी हँसी आपके हार्ट-सेल्स को मजबूत करने के साथ ही शरीर में रक्त के प्रवाह को भी सुचारू रूप से प्रवाहित करने में मदद करती है |

7. हँसने की वजह से आपके चरित्र में एक आकर्षण आता है | अक्सर लोग उन चेहरों को ढूंढते हैं जिससे हमें हँसने की एक वजह मिले | सेंस ऑफ़ ट्रस्ट की वजह से हँसी आपको लोगों के बीच पॉपुलर बनाती है |

8. कई बार मसल्स में काफी ज्यादा तनाव होने की वजह से क्रेम्प आ जाता है | हँसने से मसल्स को रिलैक्स करने का टाइम मिलता है जिससे की उनके बीच का तनाव घटता है |

हँसी एक दर्द-निवारक भी होती है | हँसने से शरीर पॉजिटिव हॉर्मोन का स्त्राव करता है | ये हॉर्मोन नेचुरल पेन-रिलीवर होते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials