अच्छा वक्ता बनना चाहते हैं तो इन बातो पर ध्यान दें(Public speaker qualities)

Public Speaker Qualities in Hindi: आपको शायद याद हो साल 2014 में आई मोदी लहर ने भारत की राजनीती में एक नये मापदंड तय किये थे | एक बेमिशाल भाषा शैली एवं भीड़ जुटाने वाले भाषणों के बीच यदि नरेन्द्र मोदी के व्यक्तित्व के सबसे बड़ी शक्तियों का आंकलन किया जाये तो निसंदेह ही इस बात से हम सब जरुर सहमत होंगे की वो एक शानदार वक्ता हैं | आज के इस समाज में भाषा एवं संवाद के खेल के बीच सही मायने में जीत उसी की होती है जो अपनी बात एवं विचारों को सही-सही दुसरों के सामने रख पायें मगर बचपन से ही हार जाने का डर एवं दुसरों द्वारा मजाक उड़ायें जाने के फिकर के बीच हम सब अपने इस मौलिक सैद्धांतिक गुण को लगभग नज़रंदाज़ कर देते हैं |

आज कामयाबी पाने में काफी हद तक आपकी भाषा एवं संवाद एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है | हर कोई आज एक अच्छा वक्ता बानना चाहता है | परन्तु सवाल है कैसे….? प्रस्तुत आलेख के माध्यम से ट्रेंडिंग ऑवर के हमारे एक्सपर्ट ने ऐसे ही कुछ महत्वपूर्ण बातो कि एक सुची बनायी है जो आपको एक अच्छा स्पीकर(Public Speaker Qualities) बनने में जरुर मदद करेगी |

(1) आत्मविश्वास: अक्सर खुद को कमतर आंकने की हमारी भूल हमें महफिल में शर्मिंदा कर देती है | यकीन मानिये बिना आत्म-विश्वास के आप एक कदम भी आगे नहीं बढ़ सकते | आत्म-विश्वास को बढ़ाने हेतु आप आईने के सामने बोलने की भी प्रेक्टिस कर सकते हैं |

(2) सम्बंधित नॉलेज रखें : कल्पना कीजिये की आप एक अच्छे वक्ता हैं एवं फलाना विषय के ऊपर आपको कोई स्पीच देना है | मगर आपकी तो तैयारी ही पूरी नहीं या फिर आपको ये नहीं पता की आपको बोलना क्या है…? ऐसे माकुम परिस्थितियों में सिर्फ आपकी तैयारी एवं सम्बंधित सब्जेक्ट में आपकी पकड़ ही आपको कामयाब वक्ता बना सकती है | जितना हो सके बेफिजूल की बाते न करने की आदत से बचें एवं नॉलेज को बढ़ाने हेतु हमेशा लालायित रहें |

(3) भाषा की पकड़: Public Speaker Qualities का सबसे महत्वपूर्ण भाग| कई बार सब कुछ होने के बावजूद भी हम उसे डिलीवर नहीं कर पाते | याद रहे भाषा का अच्छा ज्ञान आपको इन विरल परिस्थितियों से उबार सकता है जो हो, जितना हो उसे उसी लैंग्वेज में बोलने की कोशिश करें | जिसमें आप कम्फर्ट फील करते हों | याद रहे विचारो की अभिव्यक्ति में भाषा कभी बाधक न बन सके |

इसे भी पढ़े: क्यों होती हैं कॉंफिडेंट गर्ल्स दूसरों से अलग 

(4) अच्छे वक्ता के गुण सीखें: जितना हो सके, टीवी से या फिर अन्य किसी स्रोत से अच्छे वक्ता को बोलते हुए सुने | कोशिश करें उनके द्वारा कहे गये विशिष्ट मुहावरों, शब्दों को डायरी में नोट करने की | याद रहे इस तरह के भाषण में वक्ता से सीधा संपर्क आपके स्पीकिंग एबिलिटी में चार चाँद लगा सकता है |

(5) छोटा एवं सरल संवाद की आदत डालें: कई बार देखा गया है की भाषण लम्बा खीँच जाने की वजह से स्रोता बीच में ही आपके वार्तालाप को काट देते हैं | जितना हो सके अपने भाषा एवं संवाद को सरल एवं छोटा बनाने की कोशिश करें | कम बोलें मगर टू द पॉइंट बोलें…

(6) सहज रहें: ध्यान रहे आप नर्वस होकर मात्र अपनी कमजोरियों को ही उजागर कर सकते हैं | अपने संवाद से पहले कोशिश करें | खुद को स्थिर रखने की | लम्बी सांस ले एवं हो सके तो बीच-बीच में थोड़ा चहल कदमी भी करते रहें | इससे आपके अन्दर एक नयी उर्जा का संचार होता रहेगा |

ध्यान दें एक अच्छा वक्ता बनने हेतु आपको बस थोड़ी-बहुत सुधार लाने की जरुरत होती है | जितना हो सके अपने साथी-संगियों संग संवाद करने की कोशिश करते रहें | समय-समय पर अपने दोस्तों एवं परिवार से अपने संवाद-शैली के बारे में फीडबैक भी लेते रहें | ये आदतें भविष्य में आपको काफी लाभ पहुँचा सकती हैं |

Summary
Review Date
Reviewed Item
अच्छा वक्ता बनना चाहते हैं तो इन बातो पर ध्यान दें
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials