क्या कुछ नहीं झेला इन सिलेब्रिटीज ने

किसी ने सही कहा है कि जब आप लोगों से अलग हटकर कुछ करना चाहते हैं तो ये कोई आसान काम नहीं है। लोग आपका ना केवल मजाक उड़ायेंगे बल्कि हो सकता है कि आपका आत्मविश्वास भी झंझोर कर रख दें। लेकिन जो किसी भी कीमत पर दूसरों को अपने ऊपर हावी ना होने दे और खुद के सपनों में ही रमा रहे उसे तो जीत मिलनी ही है। और यहाँ हम आपको कुछ ऐसे सिलेब्रिटी के बारें में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपने स्ट्रगल के दौरान इतने बुरे दिन देखे हैं जो किसी की भी हिम्मत को तोड़ सकते हैं।

अल्बर्ट आइस्टीन – आज भले ही आइस्टीन को समझदारी का पर्याय माना जाता हो लेकिन एक समय था जब इन्हें अपनी क्लास का सबसे मंदबुद्धि बच्चा माना जाता था। ये मैथ्स में इतने वीक थे कि आसान से आसान यानी प्लस, माइनस और डिवाइड भी नहीं कर पाते थे। उन्हें ये ताने बर्दाश्त करने की आदत पड़ गई थी कि वो अपने जीवन में कभी कुछ नहीं कर सकते हैं। लेकिन इन सब में उनकी माँ ने उनका साथ कभी नहीं छोड़ा और उन्हें घर पर ही पढ़ाना शुरु किया। इसके बाद आइस्टीन ने जो मेहनत की वो हम सब जानते हैं। और आज अगर हम इस बात पर गौर करें कि बचपन में कभी उन्हें मंदबुद्धि कहा जाता था तो बड़ी ही हैरानी होती है। कौन यकीन करेगा की ये जीनियस कभी मैथ्स में इतना वीक रहा होगा या फिर बचपन में इसे मंदबुद्धि समझ जाता होगा।

अमिताभ बच्चन – आज भले ही इन्हें बिग बी के नाम से जाना जाता हो लेकिन एक टाइम था जब ये केवल अमिताभ थे और लोग इनकी आवाज के कायल होना तो छोड़िये बल्कि इसी आवाज के चक्कर में इन्हें रेडियो समाचार प्रसारक की नौकरी से ही निकाल दिया गया था। यहाँ सीखने वाली बात ये है कि लोग आपके बारे में क्या सोचते हैं इस बात से ज्यादा ध्यान देने वाली बात ये है कि आप इस बात पर ध्यान दें कि आप खुद के ऊपर कितना विश्वास रखते हैं।

एपीजे अब्दुल कलाम – इन्हें भारत ही नहीं बल्कि पूरी दूनिया में जाना जाता है लेकिन ये इसीलिए मिसाइल मैन नहीं हैं कि इन्हें इसके बाद सफलता मिली बल्कि इसीलिए जाने जाते हैं क्योंकि इन्होंने अपनी लगातार मिल रही हार के बाद भी हार नहीं मानी। अपनी फीस भरने के लिए ये सुबह अखबार बांटा करते थे। इनका पहला रॉकेट और मिसाइल दोनों ही असफल हो गए थे।

यहाँ हमें समझने की जरुरत है कि हर कोई हमेशा से ही महान नहीं होता है बल्कि अपनी लगन और मेहनत से महान बनता है। क्या आप कभी आइस्टीन को जान पाते अगर वो मंदबुद्धि ही रहते तो। कभी नहीं जान पाते लेकिन उन्होंने अपनी असफलता से सीख ली। गलतियों से सीखा और आगे बढ़े।

क्या होता अगर अमिताभ बच्चन अपना सिलेक्शन ना होने के कारण हार मान लेते और आगे कोशिश नहीं करते। तो क्या फिर आप उन्हें बीग बी के नाम से जानते। लेकिन इन लोगों ने हार नहीं मानी। इन्होंने लगातार अच्छा करने की कोशिश की।

Nandini Singh

नंदिनी सिंह ट्रेंडिंगऑवर में एडिटोरियल प्रड्यूसर हैं|