कपूर एंड संस : सिंपल स्टोरी लेकिन जायकेदार तडके के साथ

कास्ट : अलिया भट्ट, सिद्धार्थ मल्होत्रा, फवाद खान, ऋषि कपूर, रत्ना पाठक, रजत कपूर

निर्देशन : शकुन बत्रा

कपूर एंड संस Since 1921….फिल्म का नाम भले ही थोडा अटपटा हो लेकिन फिल्म देखने के लिहाज से कतई अटपटी नहीं हैं…..इस शुक्रवार रिलीज हुई कपूर एंड संस पारिवारिक फिल्मों का सूखा खत्म करती है… डायरेक्टर शकुन बत्रा ने दर्शकों को प्रभावित करने का कोई मौका नहीं छोडा है…और इस बात की तारीफ तो करनी बनती है….

कपूर एंड संस की कहानी 

ये कहानी दो भाइयों के  राहुल कपूर और अर्जुन कपूर इर्द-गिर्द बुनी हूई है…..राहुल कपूर का रोल निभार रहे है फवाद खान तो वहीं सिद्धार्थ मल्होत्रा आपको अर्जुन कपूर के रोल में दिखाई देगें। ये दोनों भाई एक ही छत के नीचे तब आते है जब इनके दादू अमरजीत कपूर यानि ऋषि कपूर को हार्ट अटैक आता है…. 5 सालों बाद अपने पैतृक घर में इन चार लोगों का इकट्ठा होना ही कपूर एंड संस की पटकथा का आधार है…. और इस कहानी में टिवस्ट तब आता है जब एक क्यूट लडकी टिया यानी आलिया भट्ट की एंट्री होती है…. इन दोनों भाइयों में से टिया किसको अपना हमसफर चुनती हैं और कैसे इन दोनों भाइयों को बीच की दूरी कम होती है यही फिल्म में देखने की बात है……..

मसालेदार स्क्रिप्ट

क्या आपको पता है कामेडी और ड्रामा दोनों को मिला दिया जाये तो क्या कहते है…जी हाँ…इसे कहते हैं ड्रैमेडी… कपूर एंड संस में आपको कामेडी और ड्रामा दोनों का जबरदस्त घालमेल मिलता है..इंटरवल से पहले कपूर एंड संस आपको पूरी तरह से इम्परैस करती है…चाहै वो दादू का किरदार हो या पैरैंट्स का या फिर ये दो हैंडसम हीरो….दर्शक कहीं भी प्रभावित हुए नहीं रह पाते है…संवाद पर काफी काम किया गया है जो कि कहानी को और ज्यादा मजबूत बनाते हैं…. लेकिन कपूर एंड संस की स्पीड इंटरवल के बाद काफी कम हो जाती है जो शायद आपको सोचने पर मजबूर करे कि आपको फिल्म पूरी देखनी है या फिर……आप समझ ही गये होंगें… ऋषि कपूर जब भी स्क्रीन पर  दिखाई देते है दर्शकों को हंसाने में कोई कसर नहीं छोडते हैं… उनके संवाद हसी की चाशनी से लबालब भरे पडे है….

कपूर एंड संस का संगीत 

कपूर एंड संस के दो गाने ‘चुल’ और ‘बोलना’ रिलीज से पहले ही सबकी जबान पर चढे हुए है…कहानी की तरह संगीत भी दमदार है…

कपूर एंड संस की कमजोर कड़ी :

फिल्म पूरी तरह से चुस्त दुरुस्त है लेकिन सिर्फ एक ही कमी है वो है इंटरवल के बाद का हिस्सा..जो थोड़ा सो स्लो है…इसके अलावा फिल्म में कोई कमी नहीं है..

क्यों देखें आप कपूर एंड संस :

अगर आप आलिया भट्ट, फवाद खान, सिद्धार्थ मल्होत्रा या ऋषि कपूर के जबरदस्त दीवाने हैं, तो ये फिल्म सिर्फ आपके लिये है…

अब बात करते हैं अभिनय की :

दादू के कैक्टर में ऋषि कपूर ने कमाल का अभिनय किया है….आपको सीरियस भी करेंगें तो हंसायगें भी..तो वहीं दूसरी तरफ यंग बिग्रेड सिद्धार्थ मल्होत्रा, आलिया भट्ट और फवाद खान ने भी जबरदस्त एक्टिंग की है….और कपूर एंड संस में चार चांद लगा दिये हैं…..जहां एक तरफ सिद्धार्थछोटे भाई के रूप में मस्त लगते है तो वहीं फवाद खान, बड़े भाई के कैरेक्टर में आपको सरप्राइज करते हैं इसके साथ ही रजत कपूर और रत्ना पाठक शाह ने पैरेंट्स के किरदार को एवार्ड विनिंग परफार्मस दी है…

 

हिंदी खबर से जुड़े अन्य अपडेट लगातार पानेे के लिए हमें फेसबुक ,गूगल प्लस और  ट्विटर पर फॉलो करे

Summary
Review Date
Reviewed Item
कपूर एंड संस मूवी रिव्यु
Author Rating
41star1star1star1stargray

Nandini Singh

नंदिनी सिंह ट्रेंडिंगऑवर में एडिटोरियल प्रड्यूसर हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials