1920 लंदन – ना डराती है, ना एंटरटेन करती है

तो आपमें से कितनों को डरावनी मूवीज अच्छी लगती है…जाहिर है ऐसे लोगों की गिनती काफी होगी जिन्हें डरावनी मूवीज देखना काफी मजेदार लगता है। तो फिर आपका इंतजार खत्म होता है क्योंकि शरमन जोशी, मीरा चोपड़ा और विशाल करवाल स्टारर ‘1920 लंदन’ हॉरर थ्रिलर फिल्म रिलीज हो गई है… और यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि इस हालिया रिलीज फिल्म के बारे में….तो फिर देर किस बात की है..आप सब तैयार है most awaited के बारे में ताजा मूवी रिव्यू जानने के लिये…

टीनू सुरेश देसाई ने ये फिल्म डायरेक्ट की है…‘1920 लंदन’ एक हॉरर थ्रिलर फिल्म है और जिनको डरना पसंद है वो ये फिल्म देखने के लिये जरुर जायें…फिल्म कहानी लंदन से शुरु होती है लेकिन राजस्थान तक पहुंचती है।

आपको यहाँ ये भी बताते चले कि टीनू सुरेश देसाई द्वारा निर्मित 1920 लंदन फ़िल्म, 1920 सीरीज का ही नई फ़िल्म है | जैसा की आपको पता होगा इस से पहले ‘1920’ और ‘1920 द एविल रिटर्न्स’ भी आ चुकी है |

1920 लंदन की एक झलक :
  • निर्देशन : टीनू सुरेश देसाई
  • प्रोडूसर : संदीप संदिल्या
  • स्टार कास्ट : शर्मन जोशी, मीरा चोपड़ा, विशाल करवाल
  • संगीत : अमर मोहिल
  • सिनेमाग्राफी : प्रकाश कुट्टी
  • प्रोडक्शन कंपनी : Relience एंटरटेनमेंट
  • भाषा : हिंदी

1. क्या है 1920 लंदन फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी प्रिसेंस शिवांगी (मीरा चोपड़ा) के इर्द-गिर्द घूमती है जो कि लंदन में अपनी पति वीर सिंह (विशाल करवाल) के साथ रह रही है। लेकिन इन दोनों की जिंदगी में तूफान तब आता है जब शिंवागी को राजस्थान से एक तोहफा मिलता है…इस तोहफे के साथ ही शिंवागी और वीर की जिंदगी में परेशानी आना शुरु हो जाती हैं…इस तोहफे के बाद वीर अजीबोगरीब हरकतें करना शुरु कर देते हैं…शिंवागी वीर को ठीक करने के लिये अपने एक्स लवर जय (शर्मन जोशी) की हेल्प लेती है..क्योंकि उसे लगता है कि ये सब काले जादू की वजह से हुआ है…अब इसके आगे क्या होता है इसके लिये आपको फिल्म देखने के लिये जाना पड़ेगा…

2. एक्टिंग का पैमाना

भले ही शरमन जोशी ने इस फिल्म में खुद को एक अच्छे एक्टर के रुप में खुद को साबित किया है, लेकिन इस हॉरर फिल्म में वो कुछ मिसफिट नजर आते हैं… क्योंकि शरमन इस फिल्म से और भी बेहतर कर सकते हैं। रॉयल प्रिसेंस के रोल में मीरा ज्यादा प्रभावित नहीं कर पाई है… तो वहीं बुरी आत्माओं से जूझ रहे विशाल के पास करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं था..उनके पास एक्टिंग के नाम पर बस चिल्लाने के अलावा कुछ नहीं था। विशाल अपने रोल में ठीक-ठाक लगे…क्योकि उनके पास कोई और चॉइस नहीं थी…

4. डायरेक्शन को भी डायरेक्शन की जरुरत है –

टीनू सुरेश देसाई ने ऑडियंस को डराने की पूरी कोशिश की है, लेकिन अफसोस की बात ये हैं कि वो ज्यादा डरा नहीं पाये। टीनू फिल्म पर और भी मेहनत करने की जरुरत थी…ये फिल्म एंटरटेन कर सकती थी लेकिन अगर कुछ मसालों को मिलाने की गुस्ताखी की गई होती

5. म्यूजिक बेहद बोरिंग है – 

फिल्म का म्यूजिक किसी को भी लुभानें में सफल नहीं रहा। फिल्म का कोई भी सॉन्ग्स याद रखने लायक नहीं है। और ना ही आप इन्हें गुनगुनाना चाहेंगें क्योंकि ना ही म्यूजिक अच्छा है और ऩा ही लिरिक्स।

कहना गलत ना होगा कि आप फिल्म देखने जा सकते हैं अगर आपके पास और कोई काम ना हो करने के लिये… लेकिन अगर आप कोई जरुरी काम सिर्फ इस फिल्म को देखने के लिये छोड़ रहें हैं तो ऎसा कतई ना करें। हमारे साथ अपने विचार जरूर साझा करें.

 

[yop_poll id=”6″]

Summary
Review Date
Reviewed Item
Film 1920 लंदन
Author Rating
21star1stargraygraygray

Nandini Singh

नंदिनी सिंह ट्रेंडिंगऑवर में एडिटोरियल प्रड्यूसर हैं|

Leave a Reply