Elderly Care Specialist के रूप में संवारे अपना भविष्य

आज हम आपको Elderly Care in India से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां देने जा रहे हैं| मेडिकल सुविधाओ में हुई वृधि एवं एक बेहतर जीवन प्रणाली के अनुसरण के फलस्वरूप आज भारत में सीनियर सिटीजन्स की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही हैं. एक अनुमान के मुताबिक, फ़िलहाल देश में सीनियर सिटीजन्स की आबादी लगभग 10 करोड़ है जो की वर्ष 2025 तक 12% की रफ़्तार से बढ़ने का अनुमान हैं. भागदोड़ भरी जीवनशैली एवं न्यूक्लियर फैमिलीज़ के बढ़ते ट्रेंड के बीच आज लोगो के पास बुजुर्गो की देखभाल के लिए पर्याप्त वक़्त नहीं मिल पाता ऐसे में सोसाइटी में सीनियर सिटीजन्स की सेहत की देखभाल हेतु एलडरली केयर स्पेशलिस्ट (Elderly Care in India) या Geriatric Care Professionals की भारी मांग बढ़ी हैं. अब आप भी ज़ोरियाट्रिक केयर प्रोफेशनल के रूप में अपने करियर को नया आयाम देने के साथ-साथ अपने सोशल रेस्पोंसिबिलिटी का भी निर्वाह कर सकते हैं. पेश हैं एक रिपोर्ट.

Work-Profile:

एलडरली केयर स्पेशलिस्ट के रूप में आप हफ्ते में तीन या चार दिन सीनियर सिटीजन्स के घर जाते हैं,उनसे बाते करते हैं एवं छोटे मोटे काम करने में आप उनकी मदद भी करते हैं. आप चाहे तो उन्हें शौपिंग करा सकते हैं, उनके साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं. ध्यान दे आपके इस नेक काम का मकसद उनके जीवन में एकांत को दूर कर उनके मन में जीने की एक उमंग पैदा करने की होती हैं.

Educational Qualification:

साइकोलॉजी, फिजियोथेरेपी, ज़ेरोंटोलोजी, फिजिकल साइंस तथा अलाइड हेल्थ साइंस में मास्टर्स की डिग्री रखने वाले लोग एलडरली केयर के रूप में अपने करियर को एक नयी पहचान दे सकते हैं.अभी फ़िलहाल भारत में एलडरली केयर में पीजी डिप्लोमा एवं सर्टिफिकेट्स दो तरह के कोर्सेज उपलब्ध हैं. इसके अलावा सोशल साइंस, आर्ट्स या मेडिसिन बैकग्राउंड के स्टूडेंट्स भी ये कोर्स कर सकते हैं. आजकल MBBS करने वाले डॉक्टर्स भी इसमें स्पेशलाइजेसन कर एक नयें युग का निर्माण कर रहे हैं.

इसे भी पढ़े: मशरूम की खेती में संभावनाए अपार

Career  Opportunities:

समय की इस दौड़ में आज कई ऐसी प्राइवेट कंपनी धड़ल्ले से खुलती जा रही हैं जो सीनियर सिटीजन्स को पेड एलडरली-केयर सर्विस मुहैया करवाती हैं. वही कुछ हॉस्पिटल्स में भी अब धीरे-धीरे ज़ोरियोट्रिक वार्ड खुलते जा रहे हैं जहा सीनियर सिटीजन्स को पेड हेल्थ सर्विस उपलब्ध करायी जा रही हैं. इसके अलावा कई ओल्ड-ऐज होम एवं NGO के साथ भी जुड़ आप बुजुर्गो एवं सीनियर सिटीजन्स को स्पेशलाय्सड सर्विसेज दे सकते हैं. ध्यान दे सोशल एंड कम्युनिटी सर्विसेज, नर्सिंग-स्कूल्स और रिसर्च इंस्टिट्यूट में भी ऐसे लोगो के लिए जॉब की काफी सम्भानाये हैं.

Salary Package:

अपने सोशल रेस्पोंसिबिलिटी को निभाने के साथ-साथ आप शुरुवाती दौड़ में हर महीने 15 से 30 हज़ार तक की नौकरी आसानी से कर सकते हैं. समय के साथ अनुभव बढ़ने पर आपकी सैलरी भी बढती जाएगी. इसके अलावा अनुभव बढ़ने पर आप अपना काम स्टार्ट कर अच्छा कमा सकते हैं.

Colleges For Elderly care Specialist course:
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल डिफेन्स,दिल्ली (www.nisd.gov.in)
  • नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज,मध्य-प्रदेश (www.nscbmc.ac.in)
  • राजीव गाँधी पैरामेडिकल इंस्टिट्यूट, न्यू दिल्ली (www.rgpcindia.com)
  • इंदिरा गाँधी ओपन यूनिवर्सिटी, दिल्ली (www.ignou.ac.in)

फ़ोटो साभार : safehandshealthcare

Tag: Elderly Care in India

Tredinghour

THNN (Trendinghour News Network).

Leave a Reply