क्या है Maternity Benefit Bill ? जाने बिल से जुड़े अपने अधिकारों को

क्या है Maternity Benefit Bill ? जाने बिल से जुड़े अपने अधिकारों को (Maternity Benefit Bill In Hindi): भारत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है और ऐसा भी नहीं की इसके विकास का इंजन सिर्फ एक निश्चित जाती वर्ग द्वारा खिंचा जा रहा हो | आज भारत के हर जगह से कोई न कोई मिसाल जरुर निकल रहे है जो अपने आसपास के समाज को जीने की एक वजह दे रहे हैं | यही वजह है की आज औरत भी पुरुषो के साथ न सिर्फ कंधे से कन्धा मिला कर चल रही है बल्कि कई मामलों में तो वे उनसे एक कदम आगे भी निकल रही है |

इंदिरा नुई, चंदा कोचर, शिखा शर्मा जैसे कई दिग्गज आज जाने माने ब्रांड्स के बॉस बने हुए है | ऐसे में महिलाओं के सुरक्षा एवं अन्य सुविधाओं पर भी खास जोड़ दिया जा रहा है | अभी हाल ही में राज्यसभा द्वारा मंजूर की गयी Maternity Benefits Bill के पास होने के साथ ही अब महिलाओं के लिए “ माँ” बनाने का एहसास और भी अधिक सुविधाजनक हो चला है | आइये डालते है एक नजर Maternity Benefits Bill से जुड़े कुछ खास बातों पर :

Maternity Benefit Bill In Hindi :

(1) अभी फ़िलहाल सरकारी एवं गैर सरकारी क्षेत्रो में काम करने वाली महिलाओं को मैटरनिटी केस में केवल 12 हफ्ते का ही अवकाश मान्य था परन्तु इस बिल के पास होने से अब ये लिमिट 26 हफ्ते तक कर दी गयी है |

(2) इस बिल के लागु होते ही भारत भी उन देशो के साथ सामिल हो जायेगा जहाँ मैटरनिटी लीव के रूप में 18 हफ्ते से अधिक की छुट्टी दी जाये | वैसे एक सत्य ये भी है की मैटरनिटी बेनिफिट्स नहीं मिलने की वजह से आज भी काफी महिलाये अपनी जॉब छोड़ने के लिए मजबूर हो जाती है |

(3) इस बिल के पास होने से महिलाओं को मैटरनिटी पीरियड में 3 हजार रूपए का मैटरनिटी बोनस भी दिया जायेगा | ध्यान रहे की इस बिल के अनुसार 2 बच्चो तक 26 हफ्ते की छुट्टी ग्रांट होगी वही उससे अधिक होने पर 12 हफ्ते की छुट्टी ही मिल पायेगी.

इसे भी पढ़े: गर्ववती महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण सावधानियाँ 

(4) इस बिल के पास होने से हमारे organised सेक्टर के करीब 18 लाख महिलाओं को डायरेक्ट रूप से फायदा मिल पायेगा | यही नहीं वर्क स्टेशन में क्रेच बैठाने की भी बात चल रही है जहा बच्चो की सम्पूर्ण देखभाल की जा सकेगी | यदि कोई सेक्टर ऐसे सुविधाएं देने में असमर्थ होती है तो उन्हें क़ानूनी कारवाही का भी सामना करना पर सकता है |

(5) अगर कोई महिला surrogacy के तहत या फिर कोई बच्चा गोद भी लेती है तो कंपनी उन्हें 12 हफ्ते तक का अवकास देगी जिससे कि बच्चो की देखभाल की जा सके | साथ ही यदि मैटरनिटी लीव ख़तम होने के बाद भी महिलाये यदि घर रह कर ही काम करने में सक्षम होती है तो उन्हें इसकी सुविधाए भी दी जाएगी.

Tag : Maternity Benefit Bill In Hindi

यदि आप को भी लिखना बेहद पसंद है तो हमें लिखे mail@trendinghour.com पर