क़र्ज़ नहीं लौटने वालो की अब खैर नहीं : रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया

बीते दिनों रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर रघुराम राजन एवं अन्य प्रमुख भारतीय बैंक के उच्च अधिकारियों के बीच हुए एक अहम् मीटिंग में राजन जी ने जानबूझ कर क़र्ज़ नहीं लौटने वाले विल्फुल डिफाल्टर के प्रति एक सख्त कानून बनाने की हिदायत दी है|

आरबीआई ने देश के सभी बैंक को क़र्ज़ लेकर नहीं लौटने वाले 150 सबसे बड़े डिफाल्टर की सूची मार्च 2016 तक जमा करने की निर्देश दिए है| ज्ञात हो की विल्फुल डिफ़ॉल्ट की वजह से हर साल भारतीय बैंकों को भारी नुकशान उठाना पर रहा है एवं आरबीआई अब इन खाताधारको के खिलाफ एक सख्त कानून बनाने के अपने मुहीम में अब अंतिम चरण में पहुचती दिखाई दे रही है|

इसे भी पढ़े : हिन्दुस्तान दुनिया की सबसे तेज़ी से विकास करने वाले देशों में, 2016 तक चीन को पीछे छोड़ देगी : वर्ल्ड बैंक

साथ ही आरबीआई ने बैंकों को मार्च 2017 तक फसे कर्जो एवं सभी एनपिए(NPA) खता बही को साफ करने की भी निर्देश दिए है| उक्त कदम NPA की आर में धोकधारी करने वाले तमाम ग्राहकों के ऊपर नकेल कसने की एक अच्छी शुरुवात हो सकती है|

ट्रेंडिंग ऑवर के समस्त परिवार के और से हम तमाम क़र्ज़धारको से ये निवेदन करते है की वे आर बी आई के इस दिशा निर्देश का पूरी ईमानदारी से पालन करे एवं किसी वि तरह के समश्या एवं शिकायत हेतु अपने नजदीकी बैंकों से अवश्य संपर्क करे. ज्ञात रहे की आपके द्वारा समय पर चुकाया गए क़र्ज़ से न सिर्फ समाज में आपकी छबि सुधारेगी बल्कि देश को एक आर्थिक बल दे आप देश के विकाश में भी एक एहम भूमिका अदा कर पाएंगे|

Tredinghour

THNN (Trendinghour News Network).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Have Entered Wrong Credentials