अपने किचन को दें वास्तु का टच इन टिप्स के साथ

Vastushastra Tips For Kitchen in Hindi : भारतीय व्यंजन के बारे में जितना भी कहा जाये उतना ही कम होगा | घर के किसी एक विशिष्ट कमरे से आती सुंगंध हमारे पेट की भूख को थोड़ा बढ़ा जरुर देती है | जी हाँ आपका किचन आपकी पहचान है | बड़े बुजुर्ग कह गए हैं कि दिल का रास्ता हमेशा पेट से ही होकर गुजरता है |

ऐसे में आज घर बनाते वक़्त हम किचनरूम सजाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ते हैं | मोडूलर किचन, चिमनी इत्यादि की सजावट से आज हमारा किचन काफी ज्यादा सुसज्जित एवं सुव्यवस्थित लगने लगा है | तो क्यों न हम भी घर को सजाते वक़्त कुछ वास्तु टिप्स को ध्यान में रखें ऐसे में हमारे वास्तु एक्सपर्ट ने आपके किचन हेतु कुछ आवश्यक वास्तु टिप्स की एक सूचि बनायी है | पेश है एक रिपोर्ट..

(1) किचन बनाते वक़्त ये ध्यान दें की वहाँ सही तरह से सूरज की रोशनी एवं हवा पहुँचे | साफ सफाई को भी नजर अंदाज़ न करें | ऐसा नहीं करने पर नकरात्मक विचार आते हैं |

(2) किचन में कभी भी आइना न लगायें फ्लोर लगाते वक़्त भी ग्रेनाइट का प्रयोग न करें |

(3) किचन को रंग करवाने में हलके रंगों का इस्तेमाल करें | ध्यान दें डार्क कलर का प्रयोग पॉजिटिव एनर्जी के संचार को रोकता है |

(4) ध्यान दें किचन में खिड़की हमेशा पूर्व की ओर ही रहे | दरवाजे कभी भी दक्षिण दिशा में न लगायें |

इसे भी पढ़े: आज शाम क्यों न नास्ते में टेस्टी पावभाजी बनाया जाये

(5) किचन में गरम हवा के निकलने के लिए रोशनदान अवस्य बनायें ये बात हमेशा ध्यान रखें कि किचन के जस्ट साइड में किसी तरह का जल स्रोत यानि की कुआँ, बाथरूम इत्यादि न बनायें |

(6) किचन का प्लेटफार्म जिसपे कि गैस ओवन रखा जाता है एवं खाना बनाया जाता है ध्यान में रखें कि थोड़ा ऊँचा हो एवं उसका मुँह हमेशा पूर्व दिशा के ओर ही खुले |

Vastushastra Tips For Kitchen in Hindi” वास्तुशास्त्र से जुड़े ऐसे ही ढेर सारे रोचक जानकारियों के लिए हमारे एस्ट्रोलॉजी पेज पर बने रहे.

फोटो साभार: homefuly