बाथरूम में आइना लगाते वक़्त रखें इन बातों का ध्यान

Vastu Shastra Tips For Bathroom in Hindi : घर..जी हाँ, कहने को तो ये एक शब्द हो सकता है परन्तु घर ही वो जगह है जहाँ इस भागमभाग भरे संसार में अपने सारे दुःख तकलीफों को पीछे छोड़ हम फिर से एक नयी सुबह की शुरुवात करते हैं.. इस धरती पर अपने हिस्से का कुछ तो है जिसपे आप अपना अधिकार जता सकते हैं और शायद इसलिए हर किसी की यही चाहत होती है कि मेरा घर लाखों में एक हो |

खैर ये तो हमारी चाहत है और बड़े बुजुर्ग कहते आये हैं कि चाहतो का कोई अंत नहीं | ऐसे में क्या आपने सोचा है कि घर का आखिर वो कौन सा हिस्सा है जहाँ आप अपने नकारात्मकता को उतारने के लिए जाते हैं | जी हाँ.. सही पकड़े हैं वो है आपका बाथरूम |

घर में बाथरूम की महत्वता को समझते हुए आज वास्तु शास्त्री हमारे बाथरूम की संरचना को वास्तु शास्त्र से जोड़ एक अच्छे घर की हमारी सोच को और भी सुदृढ़ कर रहे हैं | अमूमन हमारे पास लोगों के ये सवाल आते रहते हैं कि बाथरूम में आइना कहाँ लगाया जाये | ऐसे में हमारे इन टिप्स को हमेशा ध्यान में रखें |

Vastu Shastra Tips For Bathroom in Hindi :

  1. बाथरूम में कोशिश करें थोड़े बड़े साइज़ के आइने को कहीं टांग कर रखने की, परन्तु ध्यान दें उसका मुँह आपके गेट के ठीक सामने न हो | ऐसे में जब भी आप बाथरूम गेट से अन्दर जाते हैं तो आपकी नकारात्मकता वापस आईने से रिफ्लेक्ट हो घर में प्रवेश कर जाएगी |
  2. बाथरूम के आइने को कभी गन्दा न रखें | ऐसा करने से आपके मन में नकरात्मक विचारों का संचार होने लगेगा | जाहिर सी बात है ख़राब आईने में जब आप खुद को देखेंगे तो आपकी सुंदरता थोड़ी फीकी जरुर लगेगी जो आपके एंग्जायटी को बढ़ा सकती है |

  3. बाथरूम में कभी टूटे हुए आईने न रखें ऐसा करने से मन में नकारात्मक भाव उत्पन्न होते हैं एवं किनारों से हाथ कटने का भी डर लगा रहता है |

वास्तुशास्त्र से जुड़े ऐसे ही रोचक जानकारी हेतु हमारे एस्ट्रोलॉजी पेज पर बने रहे.

Leave a Reply